पोंटी चड्ढा की लंका में आग लगाने को आतुर योगी सरकार

पोंटी चड्ढापोंटी चड्ढा

रोहित सिंह 

लखनऊ। वाइन किंग के नाम से मशहूर पोंटी चड्ढा के साम्राज्य पर योगी सरकार ने कर्रावी शुरू कर दी है। इसके तहत सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मेरठ के कई बियर और वाइन शॉप पर छापेमारी की है साथ ही प्रमुख सचिव कल्पना अवस्थी ने इन दुकानों को सीज करने की बात कही है। ये कार्रवाई आबकारी विभाग की प्रमुख सचिव कल्पना अवस्थी के नेतृत्व में की गयी। साथ ही पोंटी चड्ढा ग्रुप को सरकार को बकाये की लगभग 54 करोड़ रकम जमा 6 जनवरी तक जमा कराने के लिए कहा गया है।

पोंटी चड्ढा ग्रुप से सरकारी खजाने को बड़ा नुक्सान

  • यूपी में शराब माफिया कहे जाने वाले पोंटी चड्ढा ग्रुप के प्रदेश में कई शराब की दुकाने हैं।
  • जानकारी के मुताबिक इस ग्रुप से सरकारी खजाने को काफी नुक्सान उठाना पड़ा है।
  • ये नुकसान वर्ष 2017-18 में अंगे्रजी, बीयर, देशी शराब की दुकानें आवंटित होने के बाद उसे बंद रखने।
  • साथ ही लाइसेंस फीस जमा ना किये जाने के कारण हुआ है।
  • कहा जा रहा है कि पूर्व सरकार में इस ग्रुप को खूब सह दी गयी।
  • सपा और बसपा सरकार के अधिकारियों ने खूब लूट खसोट की।
  • जिससे वह अपनी मनमानी करता रहा है।
  • वहीँ यूपी में बीजेपी की सरकार बनने के बाद अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई थी।
  • लेकिन अब लग रहा है कि करीब आठ महीने से सो रही सरकार जाग गयी है।

प्रमुख सचिव कल्पना अवस्थी की बड़ी कार्रवाई

  • नरेन्द्र मोदी के नौकरशाहों की बेस्ट टीम की सदस्य कल्पना अवस्थी को प्रमुख सचिव, आबकारी बनाया गया है।
  • प्रमुख सचिव बनने के बाद कल्पना अवस्थी ने पोंटी चड्ढा के साम्राज्य को ध्वस्त करना शुरू कर दिया है।
  • उन्होंने इसकी शुरुआत मेरठ जोन की है।
  • साथ कहा गया कि पोंटी चड्ढा ग्रुप के अंग्रेजी, देशी, मॉडल शॉप, बीयर की दुकानों को सीज कर दिया जायेगा।
  • इसी कड़ी में प्रमुख सचिव निर्देश पर तीन जनवरी को पूरे प्रदेश में शराब की दुकानों की चेकिंग की गयी।
  • वहीं 5 जनवरी को प्रदेश में पोंटी चड्ढा ग्रुप के थोक आपूर्ति गोदामों की सघन जांच की जा रही है।

6 जनवरी तक दिया गया समय, नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई

  • आधिकारिक सूत्रों की माने तो 6 जनवरी पोंटी ग्रुप के लिये रकम जमा करने की आखिरी मियाद सरकार ने तय की है।
  • अगर बकाये की लगभग 54 करोड़ रुपए नहीं जमा करते हैं तो सरकारी कार्रवाई सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पोंटी चड्ढा ग्रुप के मनमानी पर प्रमुख सचिव ने लिखा पत्र

  • कल्पना अवस्थी ने आबकारी आयुक्त को 29 दिसंबर 2017 को लिखे गए पत्र का हवाला देते हुए कहा की उ.प्र. डिमार्केशन एण्ड रेग्यूलेशन ऑफ स्पेशल जोन्स फार एक्सक्लूसिव प्रिवलेज ऑफ एक्साइज शॉप रूल्स 2009 में गठित हुआ था।
  • मेरठ जोन की देशी शराब, विदेशी मदिरा, बीयर की फुटकर दुकानों व सभी मॉडल शॉप का संचालन वर्ष 2011-12 में मे. ऐक्यूरेट फू्डस एण्ड ब्रिवरजेज प्रा.लि. को दिया गया था।
  • इन सभी दुकानों का नवीनीकरण 2017-18 तक समय-समय पर किया गया है।
  • विशिष्ट जोन मेरठ के संबंध में 15 दिसंबर 2017 द्वारा शुरू से ही एब-इनीटो निरस्त किया जाता है।
  • आपके उपरोक्त पत्रों में उपलब्ध कराये गये प्रस्तावनानुसार विशिष्ट जोन, मेरठ की विशेष प्रास्थिति के दृष्टिगत संबधित क्षेत्र से असंचालित आबकारी दुकानों को संचालित कराये जाने का उत्तरदायित्व मे. एक्यूरेट फूड्स एण्ड बिवरजेज प्रा.लि. पर निर्धारित करते हुये असंचालित आबकारी दुकानों की सभी देयताओं की वसूली सुनिश्चित की जाये।
  • यदि उक्त अनुज्ञापी द्वारा निर्देश के बावजूद देयताएं जमा नहीं की जाती है तो राजस्वहित में विशिष्ट जोन,मेरठ की देशी शराब,विदेशी मदिरा,बीयर की फुटकर दुकानों व मॉडल शॉप के संचालन के लिये जारी किये गये एकान्तिक विशेषाधिकार को निरस्त किये जाने की नियमानुसार कार्रवाई की जाये।
  • इस पत्र के बाद प्रदेश सभी आबकारी अधिकारियों एवं जिलाधिकारियों को वाईन किंग की शराब की दुकानों एवं गोदामों में छापामारी करने का फरमान जारी किया गया है।
  • बताया यह भी जाता है कि प्रमुख सचिव, आबकारी कल्पना अवस्थी के इस आक्रामक तेवर के खिलाफ अपना वजूद बचाने के लिये पोंटी चड्ढा ग्रुप न्यायालय की शरण में जायेगा।

इन शहरों में बंद की गयी दुकाने

  • सुप्रीम कोर्ट का निर्देश है कि हाईवे के किनारे खुली शराब की दुकानों को हटा दिया जाये।
  • निर्देश के बाद पोंटी चड्ढा ग्रुप की कई दूकान बंद कर दी गयी।
  • जिनमें बुलंदशहर, गाजियाबाद, हापुड़ , गौतमबुद्धनगर , मुरादाबाद , संभल , अमरोहा, रामपुर ,
  • बिजनौर , सहारपुर , मुजफ्फरनगर, शामली , बरेली, बदायूं, पीलीभीत एवं  शाहजहांपुर में पडऩे वाली देशी,
    अंग्रेजी, बीयर शॉप एवं मॉडल शाप की दुकानें पिछले कई सालों से बंद कर दी गयी थी।
  • इसके चलते सरकार को करोड़ों की चपत लग रही थी।
  • लेकिन तात्कालीन प्रमुख सचिव,आबकारी दीपक त्रिवेदी ने पश्चिम मंडल में पडऩे वाली सभी दुकानों की निकासी एवं लाइसेंस फीस माफ कर इस ग्रुप के प्रति अपनी वफादारी दिखाकर मोटी रकम अंदर कर ली।
  • 15 दिसंबर को जारी इसी आदेश को कल्पना अवस्थी ने खारिज कर दिया है।
loading...
Loading...

You may also like

राफेल डील: जनता के मन में पैदा हुईं आशंकाओं का दूर होना जरूरी- मायावती

लखनऊ। बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा कि राफेल