अभिनेत्री ने कहा- हॉलीवुड फिल्मों में पाकिस्तान को पिछड़े और आतंकी राष्ट्र के तौर पर दिखाया गया 

- in मनोरंजन
Loading...

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की मशहूर अभिनेत्री मेहविश हयात ने आरोप लगाया है कि हॉलीवुड और बॉलीवुड की फिल्मों ने उनके देश की इमेज खराब की है। नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में प्राइड ऑफ परफॉर्मेंस अवॉर्ड हासिल करने के बाद मेहविश ने अपने भाषण में यह आरोप लगाए। हयात को यह पुरस्कार नॉर्वे की प्रधानमंत्री एर्ना सोल्बर्ग ने प्रदान किया।

पाकिस्तान को दुनिया में बदनाम किया गया
मेहविश के भाषण कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर मौजूद हैं। उन्होंने कहा, “इसमें कोई दो राय नहीं कि फिल्में समाज को संदेश देने के सबसे सशक्त माध्यमों में से एक हैं। हमारी जिम्मेदारी बड़ी है। हम लोगों के व्यवहार और सोच में परिवर्तन ला सकते हैं। लेकिन, मुझे ये भी कहना पड़ेगा कि बॉलीवुड और हॉलीवुड ने मिलकर दुनिया में पाकिस्तान की छवि एक ऐसे देश के तौर पर पेश की जो बेहद पिछड़ा है और जहां सिर्फ आतंकवाद ही है। मैं अपने देश को बदनाम करने वाली फिल्मों के रूप में होमलैंड, जीरो डार्क थर्टी और द ब्रिंक जैसी फिल्मों के नाम गिना सकती हूं।”

बॉलीवुड भी विचार करे
मेहविश ने आगे कहा, “बॉलीवुड चाहता तो सिनेमा का उपयोग दोनों देशों के बीच आपसी समझ बढ़ाने में कर सकता था। लेकिन, उसने अपनी ताकत का इस्तेमाल हमारे देश को बदनाम करने में किया। अब उनको सोचना होगा कि क्या जरूरी है? सिर्फ राष्ट्रवाद या शांतपूर्ण भविष्य।” भारत का जिक्र करते हुए हयात ने कहा कि वहां दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री है। उसका काम लोगों को जोड़ने में होना चाहिए था लेकिन वहां अनगिनत फिल्में ऐसी बनती हैं जिनमें पाकिस्तान को खलनायक ही बताया जाता है। मेहविश ने कश्मीर का जिक्र भी किया। कहा- हमारे पीएम इमरान खान तो पहले ही कह चुके हैं कि अगर भारत एक कदम आगे बढ़ाता है तो हम 10 कदम आगे आने के लिए तैयार हैं।

Loading...
loading...

You may also like

करीना ने कहा-‘सैफ अली खान के साथ शादी का मेरा फैसला सबसे सही फैसला था’

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली।  करीना