लखनऊ: अध्यादेश के बाद सामने आया तीन तलाक का मामला, पति करता था प्रताड़ित

तीन तलाकतीन तलाक

लखनऊ। किसी को तलाक, तलाक, तलाक कह कर तलाक दे देना अब  दंडनीय अपराध है। इसके लिए तीन साल की सजा का प्रावधान है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बीते बुधवार को इसे अपराध बनाने के लिए लाये गए अध्यादेश को मंजूरी दे दी। लेकिन, बावजूद इसके तीन तलाक के मामलों में कमी होती नहीं दिख रही है। ऐसा ही कुछ मामला राजधानी लखनऊ में सामने आया है। जहां सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी एक युवक ने दहेज न मिलने के कारण अपनी पत्नी को तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया।

तीन तलाक देने वाले को अब सख्त से सख्त सजा दी जाएगी

बीते बुधवार को ही तीन तलाक के अध्यादेश पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद से ही ये कानून लागू हो गया था कि तीन तलाक देने वाले को अब सख्त से सख्त सजा दी जाएगी। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद भी तीन तलाक के मामले में कमी नहीं हो रही है। तीन तलाक के अध्यादेश जारी होने के बाद राजधानी में इसका पहला मामला सामने आया है।

ये भी पढे : जानिए पीएम चेहरे के लिए अखिलेश, राहुल, मायावती में यूपी की कौन हैं पहली पसंद 

मोहर्रम अली ने अपनी पत्नी को दहेज न मिलने पर दिये करेंट के झटके

बता दें की लखनऊ के सहादतगंज निवासी मोहर्रम अली ने पत्नी को तीन तलाक देकर घर से बाहर निकाल दिया। इतना ही नहीं पहले तो मोहर्रम अली ने अपनी पत्नी को दहेज न मिलने पर करेंट के झटके दिये। इतने से भी जब उसका मन नहीं भरा तो उसने महिला की जम कर पिटाई की। उस वक़्त महिला गर्भवती थी और पिटाई के कारण उसका गर्भपात हो गया। इसके बाद मोहर्रम ने महिला को तलाक देकर घर से निकाल दिया और घर वापस आने पर जान से मारने की धमकी भी दी।

पांच लाख रूपए के लिए महिला को करता था प्रताड़ित

जानकारी के मुताबिक शादी के बाद से ही मोहर्रम अपनी पत्नी से पांच लाख रूपए की मांग कर रहा था जो की न मिलने पर महिला को प्रताड़ित करता रहता था। इसी के चलते अब उसकी हिम्मत और बढ़ती गई, अंत में उसने तीन तलाक दे दिया।

loading...
Loading...

You may also like

जानकीपुरम गॉर्डन में सर्राफा के घर का ताला तोड़कर लाखों की चोरी

लखनऊ। जानकीपुरम गॉर्डन में चोरों ने एक सर्राफा