भासपा के बाद यह सहयोगी BJP से नाराज, राज्यसभा चुनाव में कर सकता है BSP का समर्थन

राज्यसभा चुनावराज्यसभा चुनाव

लखनऊ। केंद्र और प्रदेश की सत्ता रूढ़ बीजेपी की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। भासपा के बाद अब यूपी में बीजेपी के सबसे बड़े सहयोगी पार्टी अपना दल भी नाराज दिखाई पड़ रही है। सूत्रों की माने तो 9 विधायकों वाला अपना दल योगी सरकार के कामकाज से काफी नाराज है। वहीं अपना दल राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ वोटिंग का फैसला तक ले सकता है। पार्टी के विधायकों का कहना है कि सरकार का उनके प्रति व्यवहार ठीक नहीं है।

पढ़ें:-फिर उठा गेस्टहाउस काण्ड का मुद्दा, अब अपर्णा यादव ने दिया बड़ा बयान 

वहीं अपना दल और भासपा के बीजेपी से नाता तोड़ने के बाद बसपा का राज्यसभा चुनाव में रास्ता साफ़ हो जायेगा। बता दें कि यूपी की 10 राज्यसभा सीटों में से 8 सीटें बीजेपी अपने विधयाकों की कुल संख्या के दम पर आसानी से जीत रही है। लेकिन नौवीं सीट के लिए उसे बसपा से संघर्ष करना पड़ेगा क्योंकि इस सीट के लिए सपा और कांग्रेस ने बसपा को समर्थन का ऐलान किया है।

राज्यसभा चुनाव में लग सकता है बीजेपी को झटका

सूत्रों की माने तो, राज्यसभा चुनाव को लेकर अपना दल अपने नौ विधायकों के साथ बैठक करने वाला है। इस बैठक में पार्टी की अध्यक्ष और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल अपने विधायकों के साथ बैठक करेंगी। बैठक में तय किया जायेगा कि पार्टी का रुख राज्यसभा चुनाव में किस तरफ होगा।

पढ़ें:-राज्यसभा : भासपा के बड़े ऐलान से बसपा में ख़ुशी की लहर, BJP को लगेगा बड़ा झटका 

बता दें कि अगर अपना दल भी भासपा की तरह राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ बागी रुख इख्तयार करता है तो बीजेपी के लिए यूपी से 9वां राज्यसभा उम्मीदवार जिताना संभव नहीं हो पाएगा। भासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने पहले से ही सरकार के खिलाफ बागी रुख अपना रखा है। राजभर ने आरोप लगाया है कि मौजूदा यूपी सरकार सिर्फ मंदिरों पर ध्यान दे रही है। जिन गरीबों ने उसे वोट दिया, उन पर सरकार तवज्जो नहीं दे रही है।

पढ़ें:-योगी के मंत्री राजभर ने कहा- 325 सीट जीतकर BJP वाले पागल हो गये.. 

उन्होंने कहा कि सुलह समझौते को लेकर अगर सीएम योगी उनकी बात नहीं मानेंगे, तो जो भी बात होगी साफ-साफ होगी और सीधे अमित शाह से होगी। अमित शाह के नीचे कोई बात नहीं होगी। राजभर ने 23 मार्च को होने जा रहे राज्यसभा चुनाव में बीजेपी को समर्थन न देने ऐलान किया है।

loading...
Loading...

You may also like

दिल्ली सरकार पर एनजीटी ने ठोका 50 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की गाज