दीपिका के बाद करणी सेना ने महिला मंत्री को दी नाक-कान कटाने की धमकी

करणी सेना
Please Share This News To Other Peoples....

जयपुर। करणी सेना द्वारा एक बार फिर नाक कान काटने की धमकी देने का मामला सामने आया है। इसमें सबसे चौकाने वाली बात तो यह है कि यह धमकी किसी और को नहीं बल्कि राजस्थान की शिक्षा मंत्री किरण महेश्वरी को मिली है। ऐसे में प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठता है कि क्या इन संगठनो का कद कानून और सरकार से बड़ा हो गया है जो इस तरह से खुलेआम धमकियां दी जा रही है।

पढ़ें:- रोजा इफ्तार पार्टी: शत्रुघ्न से पूछा RJD से लेंगे टिकट? इस पर तेजप्रताप के जवाब ने मचाया हडकंप 

करणी सेना ने इस बयान पर दी धमकी

इस मामले में प्रदेश की कैबिनेट मंत्री किरण महेश्वरी पर आरोप है कि उन्होंने कथित तौर पर राजपूत समाज के लोगों की तुलना चूहों से की है। इस बयान से नाराज राजपूत संगठन की तरफ से शिक्षा मंत्री से माफ़ी मांगने की बात कही गयी है वहीं किरण महेश्वरी का कहना है कि वह राजपूत समुदाय का जिक्र नहीं कर रही थीं। दूसरी तरफ राज्य में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने उनके बयान की तीखी आलोचना की है।

rajasthan education minister kiran maheshwari
किरण महेश्वरी शिक्षा मंत्री राजस्थान

बता दें कि बीते सोमवार को किरण महेश्वरी मीडिया से बातचीत कर रहीं थीं। इस दौरान उनसे विधानसभा चुनाव से पहले सर्व राजपूत समाज संघर्ष समिति द्वारा बीजेपी के खिलाफ शुरू किए अभियान पर प्रतिक्रिया मांगी गई। इस पर उन्होंने कहा कि ऐसे भी लोग हैं जो बरसाती चूहें जब चुनाव आते हैं तो बिलों से निकल आते हैं। वसुंधरा राजे सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर के इस बयान के बाद मंगलवार (12 जून, 2018) को करणी सेना ने जयपुर में मीटिंग की।

पढ़ें:- मैनपुरी हादसे के घायलों से मिले मुलायम सिंह यादव, सपा विधायक राजू यादव ने दिखाई इंसानियत 

माफ़ी को लेकर मंत्री को दी गयी चेतावनी

इस मामले में नाराज राजपूत संगठन ने मंत्री को चेतावनी देते हुए माफी मांगने के लिए कहा है। साथ में कहा गया है कि ऐसा नहीं करने की सूरत में उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहने को कहा गया। कहा गया कि ऐसी टिप्पणी करने से पहले उन्हें दीपिका पादुकोण वाला मामला याद रखना चाहिए।

एक वीडियो में करणी सेना के स्टेट चीफ महिपाल मकराना ने कहा कि बीजेपी राजपूत समुदाय की मदद से राजस्थान में मजबूत हो गई है। महेश्वरी पिछले विधानसभा चुनाव में इन्हीं चूहों की वजह से जीती थीं। इसलिए अगले चुनाव में हम उन्हें सबक सिखाएंगे। उनके विधानसभा क्षेत्र में 40 हजार राजपूत मतदाता हैं। उन्हें तुरंत माफी मांगनी चाहिए। इसके अलावा राज्य सरकार को तुंरत बयान जारी करना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि वह महिलाओं का सम्मान करते हैं, लेकिन अपने समुदाय को बदनाम करने वाली महिलाओं को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

दूसरी तरफ शिक्षा मंत्री किरण महेश्वरी ने ऐसे किसी आरोप से साफ इनकार किया है। राज्य में कांग्रेस प्रमुख सचिन पायलट ने बयान की आलोचना की है। उन्होंने मांग की है कि वसुंधरा राजे सरकार में मंत्री को तुंरत राजपूत समुदाय से माफी मांगनी चाहिए।

Related posts:

मुख्यमंत्री विजयन का पलटवार, आरएसएस को बताया कायर संगठन
भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत, 7 लाख करोड़ रुपये से बनेंगी 83000 किमी सड़कें: अरुण जेटली
ध्वजारोहण शासकीय कार्यालयों पर प्रातः 8.30 बजे
डिस्कवरी जीत पर दिखाया जाएगा बाबा रामदेव का संघर्ष...
लखनऊ : काकोरी में डकैतों के तमंचे से बच्चा घायल...
रेलवे ट्रैक के किनारे क्षत-विक्षत हालत में पड़ा मिला मजदूर का शव...
PNB ने बैंक से पैसे निकालने को लेकर दिया बड़ा बयान, कर्मचारियों के ट्रांसफर पर दिया जवाब
शैली में बदलाव के बावजूद हिंदी और उर्दू में गहरा रिश्ता : प्रो. आसिफा ज़मानी
झारखण्ड : सीआरपीएफ व नक्सलियों के बीच मुठभेड़, इनामी ढेर, देखें वीडियो...
कुर्सी जाने से डरे मंत्रियों ने अमित शाह से मुलाकात कर दी सफाई
SC ने बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या के मामले में CBI जाचं की याचिका को किया खारिज़
तत्काल टिकट पाना होगा अब आसान, भारतीय रेलवे ने लॉन्च किया नया मोबाईल एप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *