योगी आदित्यनाथ के खिलाफ होर्डिंग देख भाजपाइयों के उड़े होश, हटवाया गया

योगी आदित्यनाथयोगी आदित्यनाथ

आगरा। जिलाधिकारी कार्यालय के सामने एमजी रोड पर ऐसा होर्डिंग लग गया, जिसे देखकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के होश उड़ गए। आनन-फानन में शिकायत की गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर होर्डिंग को हटवा दिया। भाजपाई मांग कर रहे हैं कि होर्डिंग लगाने वाले के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाए। सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी है एआईएमआईएम (ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुसलमीन)। आगरा में एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष हैं इदरीस अली। उन्होंने शनिवार की सुबह एक कलक्ट्रेट के ठीक सामने एक होर्डिंग लगवाया। इस पर लिखा था- योगी आदित्यनाथ सरकार ने किया भारत का अपमान।

योगी आदित्यनाथ की होर्डिंग देख भाजपाइयों के उड़े होश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कभी आगरा न आएं। विश्व में भारत की एक पहचान ताजमहल भी है। जो सरकार ताजमहल के साथ नहीं है, वो भारत के साथ नहीं है। पर्यटन बुक से ताजमहल का नाम हटाकर योगी सरकार ने संपूर्ण विश्व में किया भारत का अपमान। जो किसी भी सूरते हाल में बर्दाश्त नहीं। इसे लेकर जल्द ही एक विशाल जन आंदोलन होगा। होर्डिंग पर एक ओर इदरीस अली की फोटो लगी है तो दूसरी ओर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की। लोग इस होर्डिंग को देख रहे थे और निकल रहे थे।

कलक्ट्रेट में हर समय पुलिस बल रहता है। यहीं पर जिलाधिकारी, सभी अपर जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक का कार्यालय है। इसके बाद भी किसी भी पुलिस या प्रशानिसक अधिकारी की नजर नहीं पड़ी। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता कुंवर शैलराज सिंह एडवोकेट की नजर गई तो वे बिफर पड़े। उन्होंने भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष सोनू चौधरी आदि को बुलाया। जिलाधिकारी गौरव दयाल, एडीएम सिटी केपी सिंह, कलक्ट्रेट के नाजिर और थानाध्यक्ष नाई की मंडी से मौखिक रूप से शिकायत की। मांग की कि यह होर्डिंग तुरंत हटाया जाए। इसके बाद एडीएम सिटी के नेतृत्व में यह होर्डिंग हटा दिया गया।

कुंवर शैलराज सिंह का कहना है कि हमने एडीएम सिटी को अवगत कराया है कि सुलहकुल की नगर में सौहाद्र्रपूर्ण वातावरण खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। एसएसपी और डीएम कार्यालय के सामने ऐसा होर्डिंग लग जाना योगी सरकार में दुर्भाग्यपूर्ण है। एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष इदरीस के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। उनके खइलाफ देशद्रोह का मुकदमा कायम हो। भाजयुमो द्वारा लिखित में भी शिकायत की जा रही है। सांसद डॉ. रामशंकर कठेरिया के प्रवक्ता शरद चौहान का कहना है कि शहर में डीएम आफिस के सामने सहित कई स्थानों पर एक मुस्लिम संगठन द्वारा लगाये गये होर्डिंग में योगी सरकार के खिलाफ झूठा प्रचार किया जा रहा था।

उत्तर प्रदेश सरकार की पर्यटन बुकलेट में इस बार तीर्थ स्थलों को प्राथमिता दी गई है। ताजमहल तीर्थस्थलों में नही आता है। इसी वजह से ताज को ऐतिहासिक इमारतों के साथ स्थान दिया गया है। बुकलेट में ताजमहल का फोटो भी है। खुद प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता जोशी इसका स्पष्टीकरण दे चुकी है। इस होर्डिग में मुख्यमंत्री का फोटो लगाकर अपमान किया गया।

होर्डिंग लगाने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इस बारे में एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष इदरीस अली का कहना है कि होर्डिंग को भाजपा ने फाड़ा है। होर्डिंग लगाने का मकसद योगी आदित्यनाथ तक अपनी बात पहुंचाना था। योगी सरकार ने हमारे शहर का वजूद खत्म कर दिया। आगरा के सांसद और विधायक जब आगरा की बात नहीं उठा सकते हैं तो उनके होने से कोई फायदा नहीं है।

आगरा के स्मारकों से इतनी आमदनी है कि हमें किसी सांसद या विधायक निधि की जरूरत नहीं होगी। एक बात साफ हो गई है कि योगी आदित्यनाथ बेहतर संन्यासी हो सकते हैं, बेहतर मुख्यमंत्री नहीं।

loading...
Loading...

You may also like

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने कहा- अयोध्या में नहीं बनने देंगे राम मंदिर

कानपुर। 2019 लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर