भाजपा के खिलाफ अखिलेश ने तैयार किया ये मास्टरप्लान, कहा-2019 में देंगे जवाब

भाजपा
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। लोकसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव अपनी पार्टी की रणनीति तैयार करने में जुट गए हैं। इसी क्रम में अखिलेश ने कनौज के करीब एक हजार कार्यकर्ताओं को लखनऊ में एक बैठक में संबोधित किया। इस दौरान उन्होने भाजपा और आरएसएस पर जमकर हमला बोला सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा और आरएसएस नए मुद्दे उछालने और मूल मुद्दों से भटकाने में माहिर है। वह कुछ भी फर्जी आरोप गढ़ सकते हैं। जिसको लेकर उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को सावधान रहने के लिए कहा है।

पढ़ें:- कासगंज: बीजेपी विधायक बोले- हमसे बड़ा गुंडा कौन, हम कुछ भी कर सकते

भाजपा से टैक्नोलॉजी के दुरुपयोग खतरा

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी के कार्यकर्ताओं से भाजपा से सावधान रहने की बात कही। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी से नई टैक्नोलॉजी के दुरुपयोग का खतरा है। विशेष तौर पर संचार माध्यमों फेसबुक, व्हाट्सएप झूठ फैलाने में प्रयोग हो सकता है। उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस नए मुद्दे उछालने और मूल मुद्दों से भटकाने में माहिर है। वह कुछ भी फर्जी आरोप गढ़ सकते हैं।

अखिलेश ने साजिश की आशंका जताते हुए कहा कि डिजीटल इंडिया का इस्तेमाल विपक्षियोंको बदनाम करने तथा आपत्तिजनक अफवाहें फैलाने में किया जा सकता है। आरएसएस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि संघ अपने संगठन के स्तर से गांवों तक अफवाहें फैलाने के अभियान की रणनीति पर काम कर रहा है। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से कहा कि कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर तक समाजवादी पार्टी के संगठन को मजबूत बनाना और अनुशासन के साथ चुनाव की तैयारियों में जुट जाना होगा।

पढ़ें:- बीएसपी अध्यक्ष ने बागियों को दिया कड़ा सन्देश, तीन बड़े नेताओं को दिखाया बाहर का रास्ता

भाजपा का एजेंडा झूठ और धोखे का

इस दौरान अखिलेश ने कहा कि भाजपा का एजेंडा झूठ और धोखा है। देश की राजनीति में बदलाव करने में सपा की महत्वपूर्ण भूमिका होने वाली है। उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश होगी कि भाजपा दोबारा सत्ता में न आने पाए। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा के षड्यंत्र के विरुद्ध सच्चाई पर चर्चा करें। मतदाता जब सच्चाई जान लेगा तो वह समर्थन जरूर देगा।

उन्होंने कहा कि सपा सरकार के 5 वर्ष के कार्यकाल में विकास करने में कोई कसर नहीं रखी गई। किसानों, गरीबों, नौजवानों, महिलाओं सहित समाज के सभी वर्गों के कल्याण की योजनाएं शुरू की गईं। किसानों के लिए मंडियों को विकसित करने के साथ सड़कों के निर्माण पर जोर दिया गया। बिजली आपूर्ति में सुधार हुआ, नए मेडीकल कालेज खोले गए, गंभीर रोगों कैंसर, हार्ट, किडनी, लीवर के मुफ्त इलाज की व्यवस्था की गई।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *