अखिलेश यादव ने यूपी पुलिस से पूछा- इन लोगों का कब करोगे एनकाउंटर

अखिलेश यादवअखिलेश यादव

लखनऊ। यूपी पुलिस एक बाद एक एनकाउंटर कर रही है। वहीं अपराधियों को अपनी जान बचाने के लिए भागना पड़ रहा है। दूसरी तरफ विपक्ष लगातार पुलिस द्वारा किये जा रहे एनकाउंटर को लेकर सवाल खड़ा कर्ट रहा है। इसी क्रम में पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा है कि सत्तापक्ष के लोगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही। उनका ये बयान चंडीगढ़ और औरैया की घटनाओं को लेकर था।

पढ़ें:- सपा से गठबंधन पर बसपा प्रमुख मायावती की बैठक ख़त्म, इन मुद्दों पर हुई चर्चा 

अखिलेश यादव ने ट्वीट करते कसा तंज

अखिलेश यादव ने यूपी पुलिस पर आरोप लगाया कि सत्तापक्ष के लोगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कि चाहे चंडीगढ़ हो या औरेया, देश-प्रदेश में हर जगह सत्ताधारी नारी सम्मान से ऐसे ही छेड़छाड़ कर रहे हैं और जो उनके ख़िलाफ़ जाते हैं। अब तो उन ग़रीब-कमज़ोर, दलित, दमित लोगों की हत्या भी हो रही है। यूपी की पुलिस इनका एनकाउंटर कब करेगी या फिर सत्तापक्ष के लोगों को अभयदान मिला हुआ है।

पढ़ें:- NAMO ऐप से मोदी करवा रहे जनता की जासूसी: राहुल गांधी 

बता दें कि औरैया के दिबियापुर मे बेटी के साथ हुई छेड़खानी की रिपोर्ट लिखाने पर दबंगों ने दलित पिता की हत्या कर दी थी। यही नही हत्या के बाद दबंगों ने शव को सहायल थाना क्षेत्र में फेंक दिया था। पता चला कि बेला थाना क्षेत्र के पुरवा दूजा निवासी रामकेश की तीन बेटे व तीन बेटियां हैं। वह शुक्रवार को घर से निकला था लेकिन लौटकर नहीं आया। शनिवार सुबह उसका शव मिला था।

परिजनों ने बीजेपी नेता पर लगाया था आरोप

इस मामले में पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि पिछली 9 फरवरी को गांव के ही कुछ दंबगों ने रामकेश की बेटी के साथ छेड़खनी की थी।मामले में रामकेश ने बीजेपी के सहार मंडल के पूर्व अध्यक्ष सर्वेश चौबे, प्रांशु चौबे और अनिल चौबे के खिलाफ थाने में तहरीर दी। लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं की गई। इसके बाद कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज किया गया। परिजनों का आरोप है कि इसी का बदला लेने के लिए उन्होंने रामकेश की हत्या की। पुलिस ने मामले में चार आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं गांव में एहतियातन सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

पढ़ें:- बाथरूम में मिला सेनेटरी पैड, वार्डन ने चेकिंग के दौरान उतरवाए लड़कियों के कपड़े 

loading...
Loading...

You may also like

नेपाल में नए भारतीय नोटो के प्रतिबंध के बाद सीमा पर बढ़ी चौकसी

सिद्धार्थनगर। नेपाल सरकार द्वारा 100 रुपए से अधिक