गठबंधन में कांग्रेस को लेकर अखिलेश के बदले सुर, सीटों के बंटवारे को लेकर दिया बड़ा बयान

गठबंधन

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में यूपी के गठबंधन में कांग्रेस को उम्मीद न लगाने की सलाह देने वाले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के तेवर नरम पड़ते दिख रहे हैं। गुरूवार को अखिलेश ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। इसी के साथ उन्होंने यूपी में गठबंधन को लेकर बड़ा बयान देते हुए कहा कि कांग्रेस से दोस्ती है उसे छोड़ेंगे नहीं। यूपी में काफी सीटे हैं। इसलिए सीट बंटवारे में सभी संतुष्ट रहेंगे। इससे तकलीफ सिर्फ भाजपा को है। बता दें कि इससे पहले अखिलेश ने एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में कहा था कि कांग्रेस सीटों की उम्मीद न करें।

पढ़े:- लोकसभा चुनाव: अखिलेश की दो टूक, कांग्रेस ना करें ज्यादा की उम्मीद 

गठबंधन में सपा, बसपा, आरएलडी और कांग्रेस मिलकर लड़ेंगे

अखिलेश यादव ने गुरूवार को कहा कि देश अब नया पीएम चाहता है। सबके साथ गठबंधन की बातें चल रही हैं। जब विपक्ष की सीटें बड़ी संख्या में आएंगी। तभी तय होगा कि कौन पीएम बनेगा। इसमें यूपी की मुख्य भूमिका होगी, क्योंकि दिल्ली का रास्ता लखनऊ से होकर ही जाता है। उन्होंने कहा कि यूपी में सपा, बसपा तथा आरएलडी मिलकर चुनाव लड़ेंगे।

वहीं कांग्रेस के साथ गठबंधन पर अखिलेश ने कहा कि लोकतंत्र में सभी चाहते हैं कि गठबंधन हों। कांग्रेस से दोस्ती है उसे छोड़ेंगे नहीं। यूपी में काफी सीटे हैं इसलिए सीट बंटवारे में सभी संतुष्ट रहेंगे। इससे तकलीफ सिर्फ भाजपा को है।

पढ़ें:- महागठबंधन को जोरदार झटका, इस बड़ी पार्टी ने अकेले चुनाव लड़ने का किया ऐलान 

अखिलेश का भाजपा पर हमला

इस दौरान अखिलेश ने योगी सरकार और भाजपा पर जमकर हमला बोला उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से वाराणसी, अयोध्या, गोरखपुर को नहीं जोड़ा जा रहा है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर तो हवाई जहाज तक उतर गया। भाजपा सरकार में यूपी में कोई निवेश नहीं आया। भाजपा ने खुद कुछ नहीं किया। योगी सिर्फ सपा सरकार के शिलान्यास का शिलान्यास और उद्घाटन का उद्घाटन करने में लगे हैं।

loading...
Loading...

You may also like

राफेल डील: जनता के मन में पैदा हुईं आशंकाओं का दूर होना जरूरी- मायावती

लखनऊ। बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा कि राफेल