अलीगढ़ एनकाउंटर पर उठे सवाल, पुलिस वाले इत्मीनान से खिंचवा रहे थे फोटो

अलीगढ़अलीगढ़ एनकाउंटर

अलीगढ़। यूपी पुलिस एक बार फिर एनकाउंटर को लेकर सवालों के घेरे में है। इस बार अलीगढ़ में गुरूवार को हुए एनकाउंटर के फर्जी होने के आरोप लग रहे हैं। दोनों एनकाउंटर में आरोप है कि पुलिस ने मीडिया को बुलाकर उसकी शूटिंग करवाई। वहीं अब एनकाउंटर में मारे गए नौशाद की मां ने इल्जाम लगाया है कि एनकाउंटर फर्जी था। साथ ही उनका कहना है कि उनके बेटे को पुलिस रविवार को ही उठाकर ले गयी थी। हालांकि पुलिस इन आरोपों से बचने की कोशिश कर रही है।

अलीगढ़ में एनकाउंटर के दौरान पुलिस वाले खिंचवा रहे थे फोटो

जानकारी के मुताबिक एनकाउंटर के दौरान पुलिस मीडिया के कैमरों के सामने गोलियां चला-चलाकर तस्वीरें खिंचवा रही थी। एक-एक शॉट कैमरों में कैद होते रहे। इस मुठभेड़ में दो लड़कों को मार गिराया गया। जिनपर पिछले महीने अलीगढ़ में हुई 6 हत्याओं में शामिल होने का आरोप है। वहीं इस मुठभेड़ में मारे गए नौशाद की मां का आरोप है कि उनके बेटे को पुलिस रविवार को ही उठाकर ले गई थी। उसने कोई जुर्म भी नहीं किया था।

नौशाद की मां ने बताया कि पुलिसवाले उनके बेटे को रविवार के दिन ही ले गए थे। इस दौरान वह मजदूरी लिए गए हुए थे। शाम को जब वह वापस आयीं तो पता चला कि उनके बेटे को ले गए हैं। उन्होंने कहा कि उनका लड़का कपड़े की दुकान में काम करता था।

पढ़ें:- मुन्ना बजरंगी मर्डर केस: FSL रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा, सवालों के घेरे में पुलिस

पुलिस ने दी सफाई

इस मामले में पुलिस का कहना है कि आरोपों में सच्चाई नहीं अगर यह एनकाउंटर फर्जी होता तो उसमें उनका इंस्पेक्टर कैसे जख्मी होता। पुलिस पहले से ही इनकी तलाश में थी। ये बाइक पर बैठे तो उसने इनका पीछा किया और गोलीबारी में मारे गए।

पुलिस का दावा है कि मारे गए अपराधियों ने उनके ऊपर भी 30 राउंड फायर किए और उन्हें हालात काबू में लेने में करीब दो घंटे लग गए। लेकिन सवाल ये उठता है कि अगर यह सब स्क्रीप्टेड नहीं था तो पुलिस ने ऐसे में अचानक इतने मीडिया वालों को वहां कैसे बुला लिया? कई फुटेज में पुलिस वाले बहुत इत्मीनान में दिखते हैं।

मीडिया को बुलवाने को लेकर जब अलीगढ़ के एसएसपी अजय सहनी से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि नहीं, ऐसा कोई आदेश नहीं है कि फोन करके सबको बुलाया जाए। हां यह जरूर है कि जब कोई घटना होती है तो तत्काल मीडिया को अवगत कराया जाए। उन्होंने कहा कि ये ऊपर से भी निर्देश है और हम लोग ऐसा करते भी हैं। हो सकता है कि इसी क्रम में किसी ने फोन किया हो।

loading...
Loading...

You may also like

टेंट कारोबारी के घर में घुसे बदमाश ने दंपति को बंधक बना की लूट

लखनऊ। सआदतगंज क्षेत्र में बीती रात टेंट कारोबारी