योगी का बड़ा फैसला, अब इस नये नाम से जाना जाएगा इलाहाबाद

इलाहाबादइलाहाबाद

इलाहाबाद। यूपी में योगी सरकार के आने के बाद से ही नाम बदलने का सिलसिला जारी है। अब अगली बारी संगम नगरी इलाहाबाद की है। जिसका नाम बदलने का ऐलान सीएम योगी ने शनिवार को कर दिया है। अब इलाहाबाद अपने नये नाम प्रयागराज से जाना जाएगा। इसके लेकर सीएम ने कहा कि संतों ने उन्हें इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखने का सुझाव दिया था। जिसके बाद प्रदेश सरकार ने इस प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है। साथ ही प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने भी इस पर सहमति जताई है।

इलाहाबाद का नाम बदलने को लेकर सीएम योगी का पूरा बयान

संगम नगरी के सर्किट हाउस में सीएम योगी ने बताया कि कुंभ मेले की तैयारी के परिपेक्ष में बुलाई गई बैठक में कुछ संतों समेत अन्य लोगों ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखने का प्रस्ताव दिया। जिसको लेकर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने भी इसे मंजूरी देने पर सहमति जता दी है। उन्होंने कहा कि सरकार ने भी इस प्रस्ताव को मान लिया है और जल्द ही नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया जाएगा।

पढ़ें:- मुलायम के करीबी रहे नेता ने कहा- मोदी के समय गुजरात में नहीं हुआ कोई दंगा 

प्रयाग राज रखे जाने की पीछे की वजह सीएम योगी ने साफ करते हुए कहा की गंगा और यमुना दो पवित्र नदियों के संगम का स्थल होने के नाते यहां सभी प्रयागों का राज है, इसलिए इलाहाबाद को प्रयागराज भी कहते हैं। अगर सब की सहमति होगी तो संगम नगरी को प्रयागराज के रूप में ही जाना जाएगा। सूत्रों का कहना है कि यूपी कैबिनेट अगली बैठक में शहर के नाम को बदलने के प्रस्ताव पर मुहर लग सकती है।

कुंभ मेले की तैयारियों को लेकर सीएम योगी का बयान

सीएम योगी ने कहा कि कुम्भ में अक्षय वट एवं सरस्वती कूप के दर्शन सुलभ होंगे। 201 9 इलाहाबाद कुंभ के लिए तैयारी अब तक संतोषजनक रही है। हम इस साल 30 नवंबर तक सभी तैयारियों को पूरा कर लेंगे। उन्होने कहा कि 201 9 इलाहाबाद कुंभ के लिए 1,22,000 से अधिक शौचालय स्थापित किए जाएंगे। हम कुंभ के दौरान स्वच्छ भारत का संदेश फैलाना चाहते हैं।

loading...
Loading...

You may also like

विधानसभा नतीजे: तेलंगाना में कांग्रेस ने EVM से छेड़छाड़ की जताई आशंका

हैदराबाद। तेलंगाना में सत्तारूढ़तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) राज्य