अमेरिका को रूस और चीन से नहीं बल्कि इससे है खतरा

अमेरिकाअमेरिका

वाशिंगटन। विश्व शक्ति माने जाने वाले अमेरिका को अब किसी और से नहीं बल्कि अपने ही देश की मीडिया से खतरा महसूस होने लगा है। दुनियाभर के देशों की समस्याओं पर दखल देने वाला अमेरिका आज अपने ही देश की मीडिया से परेशान है। सीरिया का गृह युद्ध हो, अफगानिस्तान से आतंकवाद का सफाया करने की बात हो या फिर पाकिस्तान को आतंकमुक्त करने का मुद्दा हो। हर मुद्दे पर अमेरिका अपनी वैश्विक शक्ति का परिचय देकर इनसे निपटने का दावा करता रहा है और अन्य देश भी अपनी समस्या के हल के लिए अमेरिका की ओर टकटकी लगाये रहते हैं।

अमेरिका में काफी समय से गरमाया है फेक न्यूज़ का मुद्दा

हाल ही में उत्तर कोरिया का निरस्त्रीकरण का मुद्दा काफी चर्चा में रहा। इसमें भी अमेरिका ने अहम भूमिका निभाई हालांकि, इसके परिणाम तो भविष्य में पता चलेंगे। लेकिन वर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ताजा बयान चौंकाने वाला है ,जिसमें उन्होंने रूस और चीन को नहीं बल्कि अमेरिकी मीडिया को ही देश का सबसे बड़ा खतरा बता दिया। बताया जाता है कि अमेरिका में फेंक न्यूज़ का मुद्दा काफी समय से गरमाया है। फेक न्यूज मीडिया से जुड़ी एक बड़ी समस्या है। जिसके तहत किसी की छवि को धूमिल करने या अफवाह फैलाने के लिए झूठी खबर पब्लिश की जाती है। ऐसी झूठी खबरों पर रोक लगाने की पहल दुनियाभर में चल रही है।

ट्रंप इस मुद्दे को लेकर कई बार मीडिया पर निकाल चुके हैं भड़ास

अमेरिकी राष्ट्रपति तो इस शब्द का बार-बार इस्तेमाल करते हैं और इसी वजह से वे बार-बार मीडिया के निशाने पर भी आ जाते हैं। आए दिन इसके खिलाफ वे मीडिया पर अपनी नाराजगी जाहिर करते रहते हैं। ट्रंप ने एक बार फिर से इस मुद्दे को लेकर मीडिया पर जमकर अपनी भड़ास निकाली है।

 

 

loading...
Loading...

You may also like

विधान परिषद सभापति रमेश यादव के बेटे अभिजीत की गला घोंटकर हत्या

लखनऊ। विधान परिषद सभापति रमेश यादव के बेटे