अवैध निर्माण रुकवाने पर एक घंटे तक इंजीनियरों के साथ की कहासुनी

- in क्राइम, लखनऊ
डेमो पीक

लखनऊ। नाका के दो होटलों में आग की घटना के बाद एलडीए इस क्षेत्र में हो रहे अवैध निर्माण पर अंकुश लगाने का प्रयास कर रहा लेकिन व्यापारी व स्थानीय नागरिक अवैध निर्माण रोकवाने पर हिसंक हो रहे हैं। शुक्रवार को पानादरीबा नाका में अवैध निर्माण रुकवाने पर कुछ वकीलों व व्यापारियों ने काफी हंगामा किया। अवैध निर्माण रुकवाने पहुंचे अवर अभियन्ता अनिल सचान को लोगों ने रोक लिया। इससे दो महीने पहले भी व्यापारियों ने एलडीए के इंजीनियरों व कर्मचारियों को बंधक बनाया था तथा उनके साथ मारपीट की थी। एलडीए ने इसकी एफआईआर भी दर्ज करायी थी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

अवर अभियन्ता अनिल सचान को मैने फोन करके मौके पर जाने को कहा था। महिला मेरे पास शाम को पांच बजे शिकायत लेकर आयी। हमने फोन पर सचान को मौके पर जाकर निर्माण रुकवाने को कहा। लोगों ने वहां उन्हें रोक लिया और काफी हंगामा किया। इससे पहले भी यहां लोगों इंजीनियरों के साथ मारपीट की थी व उन्हें बंधक बनाया था। यहां अवैध तरीके से निर्माण किया जा रहा है। बिना पुलिस के सहयोग के यहां अवैध निर्माण रोकना संभव नहीं होगा।

ओपी मिश्रा, अधिशासी अभियन्ता, एलडीए

पढे:- मलिहाबाद में पुरानी रंजिश में होमगार्ड के बेटे की गोली मारकर हत्या 

नाका में हो रहे अवैध निर्माणों को रोकने के लिए एलडीए लगातार प्रयास कर रहा है। लेकिन व्यापारी न तो अवैध निर्माण रोक रहे हैं न ही एलडीए को सहयोग कर रहे हैं। कार्रवाई करने पर मारपीट कर रहे हैं। शुक्रवार की शाम को करीब पांच बजे बुजुर्ग स्नेहलता मिश्रा अधिशासी अभियन्ता ओपी मिश्रा के पास शिकायत लेकर पहुंची कि आंगन के हिस्से में उनकी पड़ोसी पूनम अग्रवाल अवैध निर्माण करा रही हैं। अधिशासी अभियन्ता ने फोन से ही अवर अभियन्ता अनिल सचान को उक्त निर्माण देखने तथा काम रुकवाने का निर्देश दिया। अनिल सचान सुपरवाइजर के साथ मौके पर पहुंचे। यहां पहुंचते ही दर्जनों वकीलों व व्यापारियों ने उन्हें घेर लिया। लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। लोगों ने अवर अभियन्ता से काफी कहा सुनी की। मामला पुलिस के संज्ञान में आने के बाद लोग शान्त हुए। मामले में एलडीए ने अभी कोई एफआईआर नहीं दर्ज करायी है।

loading...
Loading...

You may also like

डेढ़ लाख का ईनामिया दुर्दान्त अपराधी राका चढ़ा लखनऊ पुलिस के हत्थे

लखनऊ। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के निर्देशन