एक और टॉपर का चेक बाउंस, छात्र ने ट्वीट कर लगाई मदद की गुहार

चेक बाउंस
Please Share This News To Other Peoples....

प्रतापगढ़। प्रदेश के एक और मेधावी छात्र के चेक बाउंस हो गया है। चेक बाउंस होने से परेशान छात्र ने पूर्व सीएम से मदद की गुहार लगते हुए कहा की वह उसकी बात को वर्तमान सीएम तक पहुंचाए। इससे पहले भी चेक बाउंस होने की बात सामने आ चुकी है।

 ये भी पढ़ें:-सरकारी बंगले विवाद में पहले निकाली भड़ास, अब अखिलेश ने योगी सरकार को दी सलाह

सीएम ने एक-एक लाख का चेक देकर सभी टॉपरों को किया था सम्मानित

बताते चलें कि सीएम योगी ने प्रदेश में टॉप करने वाले छात्रों को एक-एक लाख का चेक देकर उन्हें सम्मानित किया था। प्रतापगढ़ जिले के छात्र आकाश द्विवेदी ने 11 जून को अपने ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए लिखा, “सर मैं आकाश द्विवेदी प्रतापगढ़ जिले का टॉपर, मैंने 2018 की 10वीं की परीक्षा में यूपी में आठवां स्थान प्राप्त किया है। सीएम योगी के द्वारा मुझे एक लाख रुपए का चेक दिया गया लेकिन वो बाउंस हो गया है। मैं दुखी हूं, सुधीर सर हेल्प मी।’ इस पर12 जून को छात्र आकाश के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा, कृपया आप तत्काल संजय अग्रवाल अपर मुख्य सचिव या मुझसे फोन पर अथवा मिलकर पूरा विवरण दें।

सिग्नेचरों का मैच न होना है चेक बाउंस होने की वजह

छात्र आकाश ने अखिलेश यादव से भी मदद मांगी है। उसने ट्वीट करते हुए लिखा, मेरा भी एक लाख रुपए का चेक बाउंस हो गया है जो सीएम योगी ने दिया था। मेरे 93.33 प्रतिशत मार्क्स हैं और यूपी में आठवां जबकि जिले में पहला स्थान है। हेल्प मी आप हमारी बात सरकार तक ट्रांसफर करें। इससे पहले छात्र आलोक मिश्रा का चेक बांउस हो गया था। छात्र ने बताया कि “हमें बैंक की तरफ से जो लैटर मिला, उसमें चेक बाउंस होने की वजह सिग्नेचरों का मैच न होना लिखा गया है।

इससे पहले भी हो चुका था चेक बाउंस

चेक में अंकित बाराबंकी के डिस्ट्रिक्ट इंस्पेक्टर राज कुमार यादव के सिग्नेचर मैच नहीं हो रहे थे।” हालंकि आलोक को दूसरा चेक दिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक यह एकमात्र ऐसा केस था जिसमें चेक बाउंस हुआ। घटना को सीरियसली लेते हुए डीएम बाराबंकी उदय भानू त्रिपाठी ने जांच कर संबंधित अधिकारी के खिलाफ एक्शन लेने की बात कही है।अप्रैल में यूपी बोर्ड के रिजल्ट घोषित हुए थे।

इस मौके पर योगी ने टॉपर्स को सम्मानित करते हुए उन्हें 1-1 लाख रु. की धनराशि देने का एलान किया था। 29 मई को लखनऊ बुलाकर सभी टॉपर्स का सम्मान किया गया। मामले में अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा, यूपी सरकार ने जो चेक यूपी बोर्ड के मेधावी छात्र को दिया था उसे बैंक ने रद्द कर दिया और बेचारे छात्र को चेक बाउंस होने पर बैंक को शुल्क देना पड़ा। चले थे छात्र को सम्मानित करने और कर दिया दण्डित! इससे छात्रों में बेहद रोष है।

 

Related posts:

चित्र अपने आप में एक भाषा : दिलीप
यह व्यक्ति निःशुल्क स्वच्छ भारत मिशन को दे रहा गति
बीजेपी नेता के बेटी की फेसबुक पर गुहार, सीपीएम के लोग मार डालेंगे मेरे पिता को...
फर्रुखाबाद: वैलेंटाइन डे पर मनचले की चप्पलों से पिटाई, विडियो हुआ वायरल
राजनाथ ने कहा निवेशकों की सुरक्षा सरकार का पहला लक्ष्य
गोरखपुर : बीजेपी नेता चिंतामणि पाण्डेय के स्कूल में चल रहा था नक़ल का खेल, 9 लोग गिरफ्तार
दबंगों ने बनाया दलित किसानों को मुर्गा, उठा-बैठक लगवाकर बनाया वीडियो...
राहुल की चेतावनी IAS उम्मीदवारों का भविष्य खतरे में
अब इस जानवर के शिकार मामले में फसें सैफ अली खान, पुलिस ने शुरू की जांच
मनकामेश्वर मंदिर में इफ्तार पार्टी को लेकर विवाद, महंत देव्यागिरी पर लगे गंभीर आरोप
2019 में यूपी में संयुक्त विपक्ष ने इस तरह सजायी फ़ील्ड, तो क्लीन बोल्ड होंगे मोदी
सीमाई क्षेत्रो में झोला छाप डॉक्टर मरीजो के साथ कर रहे खिलवाड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *