भाजपा के एकमात्र मुस्लिम विधायक को मिली धमकी, पत्र के साथ भेजी बुलेट्स

मुस्लिम विधायकमुस्लिम विधायक

दिसपुर। भाजपा विधायकों के एक के बाद एक जान से मारने की धमकी के मामले सामने आ रहे हैं। यूपी के 25 विधायकों को धमकी के बाद अब असम के एक मात्र मुस्लिम विधायक को जान से मारने की धमकी दी गयी है। विधायको को धमकी भरे पत्र के साथ दो बुलेट भेजी गयी हैं और कहा गया है कि 15 दिनों के भीतर भाजपा से इस्तीफ़ा दे दें। धमकी पीछे की वजह बताते हुए कहा गया है कि वह इसलिए पार्टी छोड़ दें क्योंकि वह मुस्लिम हैं। वहीं मामले के सामने आने पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है इस धमकी के पीछे लश्कर का हाथ होने की बात कही जा रही है।

पढ़ें:- तेजस्वी-तेजप्रताप विवाद के बाद लालू परिवार पर आया यह संकट 

मुस्लिम विधायक को धमकी देने वालों के खिलाफ मुक़दमा दर्ज

बता दें कि असम में अमीनुल हक भाजपा के एकमात्र मुस्लिम विधयक हैं। जान से मरने की धमकी को पुलिस ने गंभीरता से लेते हुए अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। इस मामले में पुलिस की तरफ से बताया गया है कि अमीनुल कछार के सोनाई से विधायक हैं। उन्हें अनजान संगठन सेव सिक्योर एंड डेवलपेमेंट प्रोटेक्शन फोर्स ऑफ मुस्लिम, बराक वैली जोन से यह चिट्ठी मिली है।

मामले की जांच कर रहे सिलचर पुलिस स्टेशन के इंचार्ज इंद्रजीत चक्रवतर्ती ने बताया कि भाजपा विधायक को धमकी भरी चिट्ठी भेजने के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि विधायक को जो चिट्ठी भेजी गई है उसमें .32 पिस्तौल के दो जिंदा कारतूस भी मिले हैं।

Aminul-Haque asam BJP's only Muslim MLA threatened 24ghanteonline.com
भाजपा विधायक अमीनुल हक

पढ़ें:- मायावती को ज्यादा सम्मान देना सपाइयों को नहीं हो रहा हज़म, समाजवादी पार्टी में बगावत शुरू 

इन धाराओं में आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज

जानकारी के मुताबिक इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी के धारा 153 ए (धर्म , जाति आदि के आधार पर वि भिन्न समुदायों के बीच दुश्मनी बढ़ाना) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत केस दर्ज किया गया है। भाजपा के मुस्लिम विधायक ने बताया कि उन्हें डाक से पत्र मिला है। जिसमें कहा गया कि भाजपा और आरएसएस सांप्रदायिक संगठन हैं। वह मुस्लिमों के खिलाफ काम कर रहे हैं। इसलिए एक मुस्लिम होने के नाते मुझे बीजेपी में नहीं रहना चाहिए। चिट्ठी में लिखा गया है कि 15 दिन के अंदर में पार्टी छोड़ दें।

loading...
Loading...

You may also like

एसएसपी ने रातों-रात 23 निरीक्षक और 100 उपनिरीक्षक को किया स्थानान्तरित

लखनऊ। अपनी पहुंच और दबदबे के बल राजधानी