पुलिस की पैनी नजरें से छावनी में तब्दील रहा अटल बिहारी स्टेडियम

- in Main Slider, ख़ास खबर, खेल, लखनऊ

लखनऊ। राजधानी में 24 वर्ष बाद हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच को लेकर शहरवासी काफी उत्साहित दिखे। शाम 3 बजे से अटल बिहारी स्टेडियम में एण्ट्री होनी थी, लेकिन क्रिकेट प्रेमियों ने अटल बिहारी स्टेडियम के बाहर 12 बजे से ही लाइन लगाना शुरू कर दी थी। लोगों के उत्साह को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने भी कमर कस ली थी। मंगलवार को सुबह से इकाना स्टेडियम को पूरी तरह से छावनी में तब्दील कर दिया गया था। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा कर्मी पैनी नजर बनाये रहे। पूर्व सूचना के अनुसार स्टेडियम की ओर पहुंचने वाले रास्तों पर टै्रफिक प्रतिबंधित कर दिया गया था। हजारों की सं या में तैनात सुरक्षा कर्मी आने-जाने वाले पर नजर गड़ाए रहे। पुलिस अधिकारी गश्त कर क्षेत्र का मुआयना और मातहतों को हिदायतें देते दिखे। आपात स्थित के लिए चौराहों पर ए बूलेंस के साथ पुलिस पिकेट की गाडियां लगाई गई।

भारत-वेस्टइण्डीज के बीच प्रस्तावित टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच को देखने के लिए आए विशिष्ट अतिथियों, वरिष्ठ अधिकारियों व हजारों की सं या में आए दर्शकों की सुरक्षा को लेकर पुलिस सुबह से ही कानपुर रोड़, रायबरेली रोड़, फैजाबाद रोड़, शहीद पथ और शहीद पथ से सटी सड़कों के आसपास तैनात रही। इसके लिए एसएसपी कलानिधि नैथानी सोमवार को समीक्षा बैठक भी कर चुके थे।

ये भी पढ़ें:- अब अयोध्या के नाम से जाना जाएगा फैजाबाद : मुख्यमंत्री योगी

पुलिसकर्मियों की नजर उन शरारती तत्वों पर दिन भर बनी रही। जिनके बारे में गुप्त सूचनाएं विभाग को मिली थी। डे-नाइट चलने वाले मैच को देखने वालों की भीड़ और राजनीतिक पार्टियों की हरकतों पर भी पुलिस सक्रिय रही। अटल बिहारी स्टेडियम की सुरक्षा में लगाए के पुलिसकर्मियों को मैच सकुशल निपटाने की हिदायत का भी असर दिखा। यहीं नहीं मातहत अधिकारियों को दिए गए सुरक्षा के टिप्स काम आया। पुलिस ने संदिग्ध को रोकने प्रयास किया। जिन्हें यातायात बदलाव की जानकारी नहीं थी। उन्हें जानकारी देते भी दिखाई दिए।

वहीं एसएसपी के निदेज़्श के बाद कहीं से हुडदंग, नारेबाजी, किसी राजनीतिक व धार्मिक स्टीकर, बैनर, पोस्टर व पानी की बोतल दिखाई नहीं पड़ी, लेकिन जिन लोगों के पास बोतले नजर आई उन्हें प्रवेश से पहले ही ले लिया गया। स्टेडियम के आसपास किसी प्रकार की राजनीतिक व धार्मिक, पोस्टर, स्टीकर लगाने की भी सूचना नहीं मिली। ध्वनि विस्तारक यंत्र जैसे भोंपू, सीटी आदि स्टेडियम के अदंर नहीं मिला। उधर स्टेडियम के अंदर व बाहर सीसीटीवी कैमरों से दिन रात निगरानी की गई।

आधा किमी दूर तक सुनाई पड़ा दर्शकों का उत्साह

अपने स्टार खिलाडिय़ों को ग्राउंड पर चौका छक्का लगाते देख प्रशंसकों ने गजब का समां बांधा, दर्शकों के उत्साह की आवाजें स्टेडियम से करीब आधा किमी0 दूर तक सुनाई दे रहीं थीं। दोपहर मेंं एंट्री पाने के लिए लोग लंबी लंबी लाइन में तिरंगा झंडा पकड़े, गालों पर तिरंगा बना कर खड़े थे तो वहीं दूसरी ओर सैकड़ों की सं या में समर्थक सुबह ही स्टेडियम पहुंच गए थे। क्रिकेट प्रेमियों का कहना था कि उनके लिए खास मौका है जब वह अपने स्टार खिलाड़ी को अपने ही शहर के अपने ही स्टेडियम में चौके छक्के लगाते हुए देखेंगे। लोगों ने कहा कि हमें समय पर एंट्री मिल जाए इसलिए हम समय से पहले आ गए हैं। इंतजार है तो बस इस बात का कि मैच का संग्राम शुरू हो और भारत लखनऊ में इतिहासिक जीत दर्ज कराएं। लोगों ने कहा आज इंतजार करना भी अच्छा लग रहा है।

ये भी पढ़ें:- संविदा कर्मी का शव रखकर परिजनों व भाकियू अवध गुट ने किया प्रदर्शन 

अव्यवस्थाओं का खामियाजा भुगता क्रिकेट प्रेमियों ने

एंट्री के दौरान भी काफी व्यवस्थाएं देखने तो मिली। स्टेडियम मैनेजमेंट की ओर से दावा किया गया था कि टिकट पर एंट्री गेट के बारे में दर्शकों को सूचित किया जाएगा और पहले से निर्धारित एंट्री गेट से ही दर्शकों को अंदर जाने दिया जाएगा लेकिन एंट्री के दौरान दर्शकों को अंदर जाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। कई बार दर्शकों को गेट इस गेट से उस गेट पर चक्कर लगाना पड़ा। यह अवस्था इसलिए हुई क्योंकि लोग अपने टिकट पर अंकित गेट नंबर को समझ नहीं पा रहे थे। उसकी वजह से लोगों को काफी दौड़ भाग करनी पड़ी। दर्शकों की सुविधा के लिए मैनेजमेंट की ओर से स्टेडियम के बाहर कोई भी पूछताछ काउंटर जैसी सुविधा नहीं उपलब्ध कराई गई, जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। एंट्री गेट पर भी कर्मचारी की ड्यूटी नहीं लगाई गई थी जो दर्शकों को सही जानकारी उपलब्ध करा पाता।

loading...
Loading...

You may also like

CM योगी ने किया अंतर्राष्ट्रीय मुख्य न्यायाधीश सम्मेलन का शुभारंभ, बोली ये बड़ी बात

लखनऊ। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा