दुर्घटना के बहाने 500 करोड़ के भ्रष्टाचारियों को बचाने की कोशिश, आग के भेंट चढ़ी LDA की फाइलें

लखनऊ। राजधानी में सरकारी दफ्तरों में आगजनी की घटनाएँ थमने का नाम नहीं ले रही हैं। एक के बाद एक घटनाये सामने आ रही हैं। ताजा मामले लखनऊ के विकास प्राधिकरण का है। जहाँ पर शनिवार को आग लग गई। इस दुर्घटना में कई फाइलें जलाकर ख़ाक हो गयी हैं। वहीँ किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

जानकारी के मुताबिक शनिवार की सुबह एलडीए की नई बिल्डिंग के चौथे मंजिल पर में अचानक आग लग गयी। जिसके बाद गार्डों ने आग की लपटों को उठता देख तत्काल फायर बिग्रेड को फोन किया। अधिकारियों को सूचना दी गई। मौके पर गोमती नगर पुलिस और 5 फायर बिग्रेड की गाड़ियां पहुंची। फायर बिग्रेड की गाड़ियां काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा सकीं।

बताया जा रहा है कि आग भ्रष्टाचार के सबूतों को मिटाने के लिए जानबूझकर लगाई गई है। जिस फ्लोर पर आग लगी वहां भ्रष्टाचार से जुड़ी तमाम फाइलें रखी थीं। इस फ्लोर पर समायोजन और प्रॉपर्टी से संबधित फाइलें रखी थीं। समायोजन घोटाले के लगभग 500 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार की जांच चल रही थी। ऐसे में अचानक उसी फ्लोर पर आग लगना जहां भ्रष्टाचार के सबूत रखे थे संदिग्ध माना जा रहा है। एलडीए में लगी इस आग में तमाम भ्रष्टाचार की फाइलें ही नहीं कंप्यूटर भी जलकर खाक हो गए। कंप्यूटर जलने से इसमें रखे गए डॉक्युमेंट्स और सुरक्षित किया गया डाटा भी जल गया। विकास प्राधिकरण में करोड़ों रुपये खर्च करके फायर सिस्टम लगाया गया थी। कुछ समय पहली ही फायर सिस्टम में दुरुस्त करने में करोड़ों रुपये कर्च किए गए थे। जब एलडीए में आग लगी तो फायर सिस्टम नहीं चला।

loading...

You may also like

लखनऊ : सीमैप ने धूम-धाम से मनाया गया CSIR का 76वां स्थापना दिवस

लखनऊ। बुधवार को सीमैप ने CSIR का 76वां