Ayodhya: राम मंदिर के निर्माण में स्थापत्य की खासियत होगी कुछ ऐसी, इतने करोड़ आएगी लागत

मंदिर
Loading...
[responsivevoice_button voice="Hindi Female" buttontext="Listen This News"]

उत्तर प्रदेश। 70 वर्षों से अयोध्या में चल रहे विवाद को लेकर कल शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया। ये फैसला रामलला विराजमान के पक्ष में आया हैं। फैसला आने के बाद से अब राम मंदिर निर्माण के लिए लोगो में काफी उत्सुकताएं देखने को मिल रहीं हैं।

बता दें की मंदिर बनाने के मॉडल को लेकर 90 के दशक यानी करीब 30 साल पहले ही कुछ लोगो के मन में तरह-तरह के डिज़ाइन आते रहते थे। और इसी को लेकर 30 सालों पहले से ही गुजरात के रहने वाले चंद्रकांत सोमपुरा ने आर्किटेक्ट शुरू कर दी थी। इनका परिवार पीढ़ियों से मंदिर डिजाइन कर रहा है। बता दें की सोमनाथ मंदिर डिजाइन भी इन्ही के परिवार ने ही किया था।

उनका दावा है कि निर्माण के लिए अगर 2000 कारीगर लगाए जाते हैं तो इसे ढाई साल में पूरा बनाया जा सकता है। साथ ही निर्माण के लिए करीब 100 करोड़ रुपये के खर्च का आकलन किया गया है।

… तो 300 साल पहले ही सुलझ जाता अयोध्या विवाद 

स्थापत्य की खासियत होंगी कुछ ऐसी

इसे 150 फुट चौड़ा, 270 फुट लंबा और 270 फुट ऊंचे गुम्बद आकार में रचा जाएगा।

इसमें सिंह द्वार, नृत्य मंडप, रंग मंडप, कोली, गर्भ गृह के सुंदर प्रवेश द्वार होंगे।

फर्श पर संगमरमर का इस्तेमाल होगा, बाकी निर्माण पत्थर भरतपुर से लाए जाएंगे।

मंदिर आधार से शिखर तक चार कोण का और गर्भ गृह आठ कोण का होगा, परिक्रमा वृत्ताकार

मॉडल दो मंजिला है, भूतल पर मंदिर और ऊपरी मंजिल पर राम दरबार होगा।

मंदिर में 221 स्तंभ होंगे, हर एक पर देवी-देवताओं की 12 आकृतियां बनी होंगी।

मंदिर में ही संत निवास, शोध केंद्र, कर्मचारी आवास, भोजनालय आदि भी होगा।

10 नवंबर राशिफल: जानें कैसा रहेगा सभी राशियों के लिए आज का दिन 

लोहे का इस्तेमाल स्थगित

बता दें की राम मंदिर के निर्माण में लोहे का इस्तेमाल नहीं होगा। इसीलिए मंदिर बनाने वाले कारीगरों को पत्थरों के जरिए मंदिर को मजबूती देने के बारे में बताई जाती है। वहीं, भगवान राम की प्रतिमा और राम दरबार का निर्माण होगा। मुख्य मंदिर में सीता, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न और भगवान गणेश की प्रतिमाएं भी उनके इर्द-गिर्द होंगी।

Loading...
loading...

You may also like

बिगड़े दिलीप घोष के बोल, पूछा- ‘शाहीन बाग में क्यों नहीं हो रही कोई मौत’

Loading... [responsivevoice_button voice="Hindi Female" buttontext="Listen This News"] बिगड़े