अयोध्या फैसला : बढ़ाई गयी पांचों जजों की सुरक्षा

Loading...

नई दिल्ली।   अति संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में फैसला सुनाने वाले पांच न्यायाधीशों की सुरक्षा अतिरिक्त जवानों, बैरिकेड और मोबाइल एस्कॉर्ट टीमों की तैनाती के साथ बढ़ा दी गई है।

शनिवार को आया फैसला

बता दें कि दशकों से  चले आ रहे अयोध्या विवाद का निपटारा करते हुए, सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को एक ऐतिहासिक फैसले मे विवादित स्थल पर एक सरकारी ट्रस्ट द्वारा राम मंदिर के निर्माण का समर्थन किया और साथ ही कहा कि मस्जिद के लिए मुस्लमानों को अलग से 5 एकड़ जमीन सरकार द्वारा दी जाएगी।

17 को रिटायर हो रहे CJI

शनिवार को न्यायाधीश – मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, सीजेआई-नामित शरद अरविंद बोबडे और न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एस अब्दुल नजीर की बेंच ने फैसला सुनाया, तब से उनकी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि माननीय न्यायाधीशों की सुरक्षा को एहतियात के तौर पर बढ़ाया गया है। बता दें कि जस्टिस गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत्त होने वाले हैं।

डिनर की घोषणा की

बता दें कि अयोध्या में विवादित राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद पर शनिवार को सुबह निर्णय देने के तुरंत बाद ही सीजेआई गोगोई ने फैसला सुनाने वाले सभी जजों के लिए (जिसमें वे खुद भी शामिल हैं) डिनर की घोषणा की और वे खुद ही उन्हें ताज मानसिंह होटल ले गए।

 

Loading...
loading...

You may also like

100 से अधिक प्रजातियों को बीमार बन रहा ध्वनि प्रदूषण

Loading... 🔊 Listen This News लंदन। ब्रिटेन की