BBAU: बीटेक डिग्री की न तो UGC से और न ही AICTE से  है मान्यता

BBAUBBAU

लखनऊ। बाबा साहेब डॉ . भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय(BBAU) के छात्रों ने कहा कि अपनी लैब नहीं है । इसके साथ ही  पानी जैसी बुनियादी समस्याओं का आभाव है। प्रो. कमान सिंह की बेरुखी से नाराज बीटेक छात्रों का प्रदर्शन किया । छात्रों का कहना है कि उनकी डिग्री की न तो UGC से और न ही AICTE से मान्यता है।

ये भी पढ़ें :-ASEAN देशों के राष्ट्राध्यक्षों से पीएम मोदी करेंगे मुलाकात, चीन को घेरने की तैयारी 

BBAU में निदेशक को हटाने के साथ नियमित कक्षाएं चलाने की मांग

  • छात्रों ने निदेशक को हटाने के साथ ही नियमित कक्षाएं चलाने की मांग की।
  • कुलपति प्रो. आरसी सोबती ने समस्याओं के निस्तारण के लिए 15 दिन का समय मांगा है।
  • इसके साथ बीटेक विद्यार्थियों ने अपना आंदोलन स्थगित करते हुए चेतावनी दी।
  • अगर 15 दिन के अन्दर उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ।
  • तो वह अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर देंगे।

BBAU में अभी तक पढ़ाई तक की  जरूरी सुविधाएं  नहीं

  • BBAU में इंस्टीट्यूट ऑफ  इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलॉजी में अन्तिम वर्ष के बीटेक के छात्रों का जमावड़ा लगा ।
  • उन्होंने वहां पर सभाकर निदेशक को विद्यार्थी विरोधी होने का आरोप लगाया।
  • इसके बाद यहां से छात्रों ने मार्च कर कुलपति आवास का घेराव किया।
  •  इस दौरान उन्होंने BBAU प्रशासन के खिलाफ  जमकर नारेबाजी की।
  • उनका कहना था कि विवि उनके साथ खिलवाड़ कर रहा है।
  • करीब पांच वर्ष पूरे होने जा रहे हैं।
  • अभी तक पढ़ाई के जरूरी सुविधाएं तक नहीं हैं।

ये भी पढ़ें :-करणी सेना के गुंडों ने कार में लगाई आग, बाद में पता चला कि अपनी ही थी…. 

एक भी स्थाई शिक्षक की नियुक्त क्यों नहीं है?

  • यहां तक की उनकी डिग्री की न तो UGC से और न ही AICTE से मान्यता है।
  • उनका तर्क था कि अगर मान्यता होती तो विभाग में इतने वर्ष बाद भी एक भी स्थाई शिक्षक की नियुक्त क्यों नहीं है?
  •  इस बीच कुलपति के बुलावे पर चार छात्रों  का प्रतिनिधि मंडल कुलपति आवास वार्ता के लिए गया।
  • वहां पर बीटेक के छात्रों ने मांग की कि लैब बनाई जाए ।
  • पीने के पानी की सुविधा मुहैया हो ।
  • नियमित रूप से कक्षाएं चलाई जाए ।

UGC और AICTE की मान्यता ली जाए

  • बीटेक की  यूजीसी और AICTE की मान्यता ली जाये।
  • छात्रों ने बताया कि कुलपति ने समस्याओं के निस्तारण के लिए 15 दिन का समय मांगा है।
  • इसके साथ बीटेक छात्रों ने अपना आंदोलन स्थगित करते हुए चेतावनी दी।
  • अगर 15 दिन के अन्दर उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ।
  • तो वह अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर देंगे।
loading...
Loading...

You may also like

किसानों के आंदोलन की वजह से गयी सरकार- राकेश टिकैत

रामपुर। पूरे मुल्क में किसानों का क़र्ज़ सबसे