BCCI ने हटाया बैन तो तेज गेंदबाज श्रीसंत ने कह दी ये बड़ी बात

- in खेल
Loading...

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) के लोकपाल डीके जैन ने आदेश दिया है कि कथित स्पॉट फिक्सिंग मामले में प्रतिबंध का सामना कर रहे तेज गेंदबाज शांताकुमारन श्रीसंत का प्रतिबंध अगले साल अगस्त में खत्म हो जाएगा। श्रीसंत छह साल से प्रतिबंध का सामना कर रहे हैं। बीसीसीआइ ने श्रीसंत पर अगस्त 2013 में प्रतिबंध लगाया था।

लोकपाल ने कहा कि श्रीसंत पहले ही प्रतिबंध का सामना कर रहे हैं और वह लगभग छह साल का समय पूरा कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि अब श्रीसंत 30 के पार हो चुके हैं और बतौर क्रिकेटर उनका सर्वश्रेष्ठ दौर बीत चुका है। मेरा मानना है कि किसी भी तरह के व्यावसायिक क्रिकेट या बीसीसीआइ या उसके सदस्य संघ से जुड़ने पर श्रीसंत पर लगा प्रतिबंध 13 सितंबर, 2013 से सात साल का करना न्यायोचित होगा। सुप्रीम कोर्ट ने 15 मार्च को श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था और बीसीसीआइ से उनकी सजा पर पुनर्विचार करने के लिए कहा था।

बीसीसीआइ ने अपनी दलील में कहा था कि श्रीसंत को सजा देने वाली अनुशासन समिति अब अस्तित्व में नहीं है, ऐसे में यह मामला लोकपाल के पास जाना चाहिए। शीर्ष अदालत ने इसके बाद अप्रैल में बीसीसीआइ के लोकपाल न्यायाधीश डीके जैन को श्रीसंत की सजा पर फैसला लेने को कहा था और कोर्ट ने इसके लिए लोकपाल को तीन महीने का समय दिया था। ट्रायल कोर्ट ने श्रीसंत पर से आइपीएल फिक्सिंग संबंधी सभी आरोप खारिज कर दिए थे जिसके बाद दिल्ली पुलिस मामले को दिल्ली हाई कोर्ट ले गई थी।

इस बारे में शांताकुमारन श्रीसंत ने कहा है, “जो मैंने आज सुना उस बात से मैं काफी खुश हूं। मैं अपने सभी शुभचिंतकों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मेरे लिए दुआएं की। उनकी दुआ कबूल हो गई है। मैं अब 36 साल का हूं और अगले साल 37 साल का हो जाऊंगा। मेरे अभी टेस्ट में 87 विकेट हैं और मेरा लक्ष्य है कि मैं अपने करियर का अंत 100 टेस्ट विकेटों के साथ करूं। मैं आश्वस्त हूं कि मैं भारत की टेस्ट टीम में वापसी कर सकता हूं।”

Loading...
loading...

You may also like

…तो क्या भारत में वैध हो सकती है क्रिकेट में सट्टेबाजी?

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। बीसीसीआई