सिद्धार्थनगर में बिना शौचालय व नल के संचालित हो रहा परिषदीय विद्यालय

शौचालयशौचालय

सिद्धार्थनगर। स्वच्छ भारत मिशन के तहत लोगो को स्वछता के प्रति जागरूक करने तथा घर – घर शौचालय बनवाने के लिए प्रदेश भर में विभिन्न स्कूलों के बच्चो द्वारा जागरूकता रैली निकालकर लोगो को जागरूक किया जा रहा है पर दुर्भाग्य की बात यह है कि सिद्धार्थनगर जिले में एक पूर्व माध्यमिक विद्यालय ऐसा भी है जहाँ पर विद्यालय में आज तक शौचालय का निर्माण ही नही कराया गया। न ही आज इंडिया मार्का हैंड पम्प टू लग सका। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एव योगी सरकार पूरे देश मे स्वछता अभियान चलाने के साथ ही साथ 12000 रूपये प्रोत्साहन राशि देकर इज्जत घर(शौचालय) बनवाने पर जोर दे रही है।

शौचालय के बिना ही संचालित स्कूल

  • वही प्रदेश सरकार द्वारा संचालित सिद्धार्थनगर जनपद के लोटन ब्लाक के ग्राम पंचायत पनेरा में स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय खैरहवा में सरकार एक अदद शौचालय भी नही बनवा सकी है।
  • ऐसे में सरकार के दावों की पोल यह विद्यालय खोल रहा है। कि स्वच्छ भारत का सपना सिर्फ कागजों में साकार हो रहा है।
  • यह पूर्व माध्यमिक विद्यालय विकास खंड लोटन के ग्राम पंचायत पनेरा के टोला खैरहवा में स्थित है।

ये भी पढ़ें : बार्डर पर सुरक्षा एजेंसियों एवं कस्टम की हुई समन्वय बैठक 

  • 2005 में हुआ है इस विद्यालय का निर्माण और तभी से बिना नल एव शौचालय के हो रहा है संचालित।
  • इस विद्यालय में 20 लड़के एव 14 लडकिया कुल 34 छात्र/छात्राये है।
  • इस विद्यालय में शौचालय न होने के कारण यहाँ पर पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को मजबूर होकर खुले में शौच जाना पड़ता है।
  • बच्चो को स्वच्छ जल न मिलने के कारण पास में लगे छोटे हैंड पाइप से बच्चे दूसित पानी पीने को मजबूर है।
  • दूसित पानी से ही यंहा मिडडे मील भी तैयार किया जाता है।
  • इस सम्बंध में बेशिक शिक्षा अधिकारी मनिराम सिंह का कहना है शौचालय और नल विद्यालयों में अनिवार्य है।इसकी जिम्मेदारी प्रधान को दी गई है।जँहा शौचालय और नल नही वँहा शौचालय बनेगा और नल भी लगेगा।
loading...
Loading...

You may also like

दिल्ली सरकार पर एनजीटी ने ठोका 50 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की गाज