अंजना हत्याकांड: पुलिस की भूमिका संदेहात्मक, सीबीआइ से सरकार कराएं जांच

अंजना हत्याकांड
Loading...

पटना। बिहार के गया अंतर्गत मानपुर में हुई अंजना हत्याकांड के सिलसिले में भाकपा-माले-ऐपवा की ने मानपुर के पटना टोले में जाकर मामले की जांच की। जिसके बाद शुक्रवार को पटना में माले की ओर से आयोजित प्रेस वार्ता में कहा गया कि गया पुलिस की भूमिका पूरे मामले में संदेहात्मक है।

ऐसे में मामले की जांच सरकार सीबीआइ से कराएं। टीम में शामिल ऐपवा के राज्य सचिव शशि यादव ने कहा कि भाकपा-माले-ऐपवा ने निर्णय लिया है कि पुलिस के ज्यादती के खिलाफ आगामी 16 जनवरी को गया के डीएम के समक्ष प्रदर्शन किया जायेगा। साथ ही सरकार से मांग की जायेगी कि मामले में लापरवाही करने वाली पुलिस पर कड़ी कार्रवाई हो और मृतक के परिजनों को नौकरी व मुआवजा मिले। घटना का विरोध गया, जहानाबाद, अरवल व नवादा में भी होगा।

ये भी पढ़ें:- देश के लिए बहुत महत्वपूर्ण है लोकसभा चुनाव 2019: अमित शाह 

उन्होंने कहा कि अंजना की हत्या कैसे हुई और हत्या के पूर्व उसके साथ क्या हुआ इसकी पूरी मेडिकल रिपोर्ट तक पुलिस ने अभी तक दबा कर रखा है। पीडि़ता के पिता सहित उसके ही घर से छोटी बच्चों को भी पुलिस अपराधियों की तरह ले गयी है। पुलिस के मुताबिक मामला ऑनर किलिंग का हैं, लेकिन यह बिल्कुल गलत है।

भाकपा माले गया के जिला सचिव निरंजन कुमार ने कहा कि जब पीडि़ता की लाश मिली, तो उसके पहले से ही पुलिस की कार्रवाई धीमी थी। प्रेस वार्ता में ऐपवा रीता वर्णवाल एवं भाकपा-माले राज्य कमेटी के सदस्य रामबली यादव मौजूद थे। गौरतलब हो कि 28 दिसंबर से लापता किशोरी अंजना 6 जनवरी को शव मिलने के बाद शहर में सनसनी फैल गयी थी।

हत्यारों ने सिर व एक हाथ काट दिया था। शव को केमिकल से भी जलाया गया था। इस मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। जिला पुलिस के मुताबिक अंजना हत्याकांड पूरी तरह ऑनर किलिंग का मामला लग रहा है। 28 दिसंबर को लापता हुई अंजना 31 दिसंबर को किसी लडक़े के साथ घर लौट थी।

अंजना के माता-पिता को पता था कि अंजना किस लडक़े के साथ गयी है। बावजूद इसके रिपोर्ट कुछ और ही दर्ज करायी गयी। मृतका की मां और बहन के बयान से पिता द्वारा अंजना को उस लडक़े के साथ दोबारा जाना कबुला गया है। हालांकि, अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आयी है, जिसका सभी को इन्तजार है।

Loading...
loading...

You may also like

पूर्व कैबिनेट सचिव -13 साल पहले युद्ध प्रभावित स्थानों से भा. नागरिकों को लाया सुरक्षित वापस

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। भारत ने