भीम आर्मी जिलाध्यक्ष के भाई की मौत को लेकर चौकाने वाला खुलासा

भीम आर्मीभीम आर्मी

सहारनपुर। सहारनपुर में महाराणा प्रताप की जयंती वाले दिन भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष के छोटे भाई सचिन वालिया की मौत हो गई थी। जिसको लेकर एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है। सहारनपुर DIG शरद सचान ने जानकारी दी है कि सचिन की मौत गलती से चली गोली के कारण हुई है। साथ ही डीआईजी ने बताया कि 9 मई को 7 युवक एक कमरे में बैठकर तमंचा देख रहे थे। तभी अचानक एक युवक के हाथ से गलती से बन्दुक चल गई और सचिन वालिया के गले में लग गई। जिसके बाद अस्पताल ले जाते वक़्त उसकी मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मामले में एक युवक को गिरफ्तार किया है।

भीम आर्मी के अध्यक्ष कमल वालिया के भाई की मौत

सहारनपुर में भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष के छोटे भाई सचिन वालिया के अचानक मौत एक बहुत बड़ा सवाल बनी हुई थी। उसके मौत के रहस्य से पर्दा उठाते हुए पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दावा किया है कि घटना वाले दिन गांव में रामनगर के 7 युवक एक कमरे में बैठकर तमंचा देख रहे थे। एक युवक के हाथ में तमंचा था और उसने जैसे ही तमंचे की नाल को ऊपर किया तो अचानक गोली चल गई तथा सामने बैठे सचिन वालिया के गले को चीरते हुए पीछे की ओर जाकर फंस गई।

ये भी पढ़ें: भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष के भाई की हत्या का मामला, एसपी सिटी समेत 5 के खिलाफ FIR दर्ज 

हालत गंभीर होने की वजह से सचिन की अस्पताल में मौत हो गई। जिसके बाद जातीय तनाव पैदा होने शुरू हो गए। पुलिस ने मामले को सामान्य करने के लिए पुलिस की तैनाती कर रखी है। बता दें 9 मई को महाराणा प्रताप जयंती कार्यक्रम के दौरान सचिन वालिया की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत हो गई थी।

प्रवीन नमक शख्स को किया गिरफ्तार

डीआईजी शरद सचान ने पत्रकार वार्ता के दौरान जानकारी साझा करते हुए बताया कि सचिन वालिया की मौत के मामले में गांव रामनगर निवासी प्रवीण उर्फ मांडा पुत्र पूरण सिंह को गिरफ्तार किया गया है। प्रवीण उर्फ मांडा के कब्जे से पुलिस ने एक खोखा तथा 315 बोर का एक तमंचा भी बरामद किया है। पुलिस प्रवीण से पूछताछ कर रही है।

जिसमे प्रवीण ने बताया कि 9 मई को वह गांव रामनगर स्थित अपनी दुकान पर था। तभी सचिन वालिया ने उसे फोन कर गांव के ही रहने वाले निहाल के घर पर बुलाया। जहां पर सचिन वालिया के साथ गांव के ही कुछ दोस्त मौजूद थे। प्रवीण ने बताया कि सभी युवक एक तमंचे को बारी-बारी से देख रहे थे। जब तमंचा प्रवीण उर्फ मांडा चेक करने लगा तो अचानक तमंचे का ट्रिगर दब गया और तमंचे से निकली गोली सामने बैठे सचिन वालिया के मुंह पर जा लगी।

ये भी पढ़ें: ताजमहल को एक स्थान से दूसरे स्थान पर किया जा सकता है शिफ्ट 

सचिन के परिजनों ने लगाए आरोप

भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष के भाई सचिन की मौत के बाद माहौल पूरी तरह से गर्मा गया था। सचिन के परिजन सचिन की हत्या गैर दलितों द्वारा किए जाने का आरोप लगा रहे हैं। बता दें कि गत सोमवार को कमल वालिया ने जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण से मुलाकात की थी। इसके बाद कमल वालिया ने बयान जारी किया था कि उसके भाई की मौत की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए, जो भी हत्यारोपी किसी भी जाति अथवा बिरादरी के हों, उन्हें सजा जरुर मिलनी चाहिए।

loading...

You may also like

Asia cup: अंपायर के गलत फैसले पर भड़के एमएस धोनी

नई दिल्ली। Asia Cup 2018 में मंगलवार को