सपा-बसपा को अलग करने के BJP ने चली बड़ी चाल, जारी किया भीमराव अम्बेडकर का विवादित वीडियो

भीमराव अम्बेडकरभीमराव अम्बेडकर

लखनऊ। यूपी में जहां करीब दो दशक के बाद बसपा-सपा की दोस्ती फिर से परवान चढ़ती हुई नजर आ रही है। वहीं बीजेपी इस गठजोड़ को तोड़ने व दोनों के बीच हुई पुरानी बयानबाजी का सहारा लेकर पुराने जख्मो को ताजा करने की कोशिश में लगी हुई। बीजेपी ने लोकसभा उपचुनाव में तमाम हमलों के बाद अब बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर पर आजम खान के विवादित बयानों को गठबंधन के खिलाफ हथियार बनाया है।

पढ़ें:- अखिलेश यादव ने यूपी पुलिस से पूछा- इन लोगों का कब करोगे एनकाउंटर 

भीमराव अम्बेडकर को लेकर बीजेपी ने साधा निशाना

बीजेपी ने आजम खां द्वारा अम्बेडकर पर दिए विवादित बयान को गठबंधन को तोड़ने के लिए हथियार बनाया है। इस मामले में पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने एक ट्वीट करते लिखा है कि अखिलेश के इशारे पर उनके चचाजान (आजम खान) बाबा साहेब को 5 साल खुलेआम अपमानित करते रहे हैं। बाबा साहेब को भूमाफिया बताते रहे हैं और सपाई तालियां बजाते रहे हैं। बहन जी (मायावती), गुंडों की छाती पर बैठने की बजाए अब उनको हाथी पर बैठाने से पहले इस अपमान के लिए अखिलेश जी से माफी तो मंगवा ली होती।

पढ़ें:- सपा से गठबंधन पर बसपा प्रमुख मायावती की बैठक ख़त्म, इन मुद्दों पर हुई चर्चा 

वीडियो के जरिए बीजेपी प्रवक्ता ने बोला हमला

सपा-बसपा गठबंधन को कमजोर करने बीजेपी ने फिर एक बार अपनी चाल चली है बीजेपी प्रवक्ता ने एक वीडियो ट्विटर पर शेयर की जिसमें वे कह रहे हैं कि लोगों को याद होगा बहनजी ने नारा दिया था कि ‘चढ़ गुंडों की छाती पर, मुहर लगाओ हाथी पर। बताने की जरूरत नहीं है कि बहनजी ने ये नारा किन लोगों के लिए दिया था।और अब जब वह खुद हाथी पर गुंडों को चढ़ाने जा रही हैं तो बहनजी से विनम्रतापूर्वक एक सवाल करना चाहता हूं कि क्या वह अखिलेश जी से और आजम खान से उस बयान के लिए माफी मंगवाएंगीं, जो पिछले पांच सालों में आजम खान ने बाबा साहेब का अपमानित करने के लिए पूरे प्रदेश में दिया। इसके बाद उन्होंने आजम खान का वीडियो पेश किया है, जिसमें भीमराव अम्बेडकर पर विवादित बयान देते दिख रहे हैं।

पढ़ें:- विपक्ष को एकजुट करने निकली ममता बनर्जी, कांग्रेस को किया दरकिनार 

आजम खान ने 2016 में दिया था बयान

उल्लेखनीय है कि सपा के कद्दावर नेता आजम खां ने साल 2016 में भीम राव अम्बेडकर पर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि अंबेडकर की उठी हुई उंगली इशारा करती है कि ‘वो खाली प्लॉट हमारा है। आजम खान ने यह बात गाजियाबाद में बने आला हजरत हज हाउस के उद्घाटन समारोह में कही। जिसमें खुद तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव भी उपस्थित थे।

यही नहीं आजम ने ये भी कहा था कि समूचे उत्तर प्रदेश में अम्बेडकर की मूर्तियां जिस तरह लगी हैं, उन सभी में उनके खड़े हाथ और इशारा कर रही उंगली बसपा के ‘मूल उद्देश्य’ को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि अंबेडकर की उठी हुई उंगली इशारा करती है कि ‘यह जमीन तो मेरी है ही, वह सामने वाला प्लॉट जो खाली है। वहां भी मैं जल्दी ही आऊंगा।

loading...
Loading...

You may also like

जानकीपुरम में अज्ञात कारणों से बीकॉम की छात्रा ने लगाई फांसी

लखनऊ। जानकीपुरम इलाके में अज्ञात कारणों से बीकॉम