पीडब्लूआई की लापरवाही, लखनऊ मंडल के उन्नाव सेक्सन में बड़ा रेल हादसा टला

- in Main Slider, ख़ास खबर, लखनऊ

लखनऊ। आज एक बार फिर पीडब्लूआई की लापरवाही के चलते हो सकता था बड़ा रेल हादसा। उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के उन्नाव सेक्सन में एक बड़ा रेल दुर्घटना होने से बच गया। आज सुबह लगभग 04:25 में उन्नाव एवं सोनिक के बिच में डाउन लाइन के खंभा नम्बर 51/24,26 मे मालगाड़ी के ड्राइवर को जोड़दार झटका महसूस हुआ।

ड्राइवर ने बिना कोई देर किए इसकी सूचना स्टेशन मास्टर एवं कन्ट्रोल को दिया जिसके बाद कानपुर के तरफ से लखनऊ को जाने वाली गाड़ी संख्या 12536 गरीब रथ को उन्नाव स्टेशन पर करीब तीन घंटा रोका गया उसके बाद ट्रैक दुरूस्त कर के उसे लखनऊ के लिए रवाना किया गया।

यदी समय रहते गरीब रथ को नहीं रोका गया होता तो पता नहीं आज कितनी जाने चली जाती और कितने लोगो की दिवाली खराब हो जाती। अभी इस फेक्चर का मरम्मत चल ही रहा था तब तक किलोमीटर 49/24,26 डाउन लाइन मे ही एक और फेक्चर हो गया जिसकी सुचना कीमैन ने दिया। वहा पर 30 का काषन लगाकर रेल सेवा बहाल किया गया।

ये भी पढ़ें:- माँ लक्ष्मी की बनेगी असीम अनुकम्पा, दीपावली पूजन का शुभ मुहूर्त और विधि 

इस पूरे मामले मे इंजीनियरिंग विभाग की बहुत बड़ी लापरवाही सामने आरही है। रेललाइन का तीन भाग मे विभाजन होने से ये स्पष्ट हो जाता है की वहा के पीडब्लूआई रमेश चंद्र यादव की कार्य प्रणाली क्या है और वे अपने सेक्सन मे निरिक्षण के नाम पर खानापूर्ति करते है। इन सभी हादसे में पीडब्लू आई के साथ-साथ रेल प्रशासन भी जिम्मेदार है क्योंकि रेल प्रशासन द्वारा बीते लगभग 18 वर्षो से पीडब्लूआई रमेश चंद्र यादव का स्थानांतरण उन्नाव सेक्सन से बाहर नही किया गया है।

बता दे कि इससे पहले भी बहुत ऐसे हादसे हाल ही में उन्नाव में हुए है जिसमें ड्रिल मशीन का ट्रेन से टकरा जाना प्रमुख है। ड्रिल मशीन टकराने के मामले में भी रेल प्रशासन द्वारा पीडब्लूआई पर कोई कार्रवाई नही किया गया। अब देखना है की इस मामले में कोई कार्रवाई होती है या किसी बड़े हादसे का इंतजार किया जा रहा है।

loading...
Loading...

You may also like

बारावफात : जुलूस के दौरान जमीन से आसमान तक थीं पैनी नजरें

लखनऊ। बारावफात के जुलूस के दौरान अराजक तत्वों