अगर आप भी लगते है अपने बच्चों को जॉनसन एंड जॉनसन, तो हो जाए सावधान

जॉनसन एंड जॉनसन
Please Share This News To Other Peoples....

वाशिंगटन। अमेरिका में एक जूरी ने जॉनसन एंड जॉनसन को 22 महिलाओं और उनके परिवारों को नुकसान पहुंचाने पर 4.69 अरब डॉलर भुगतान करने का आदेश दिया है, जिन्होंने दावा किया था कि कंपनी के टैल्कम पाउडर उत्पादों से उन्हें ओवेरियन कैंसर हो गया।

जॉनसन एंड जॉनसन को देना होगा 4.69 अरब डॉल का भुगतान 

जॉनसन एंड जॉनसन
 

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार सेंट लुइस, मिसौरी में जूरी द्वारा दिए गए मुआवजे को क्षतिपूर्ति के तौर पर 55 करोड़ डॉलर और दंडात्मक हर्जाने के तौर पर 4.14 अरब डॉलर में बांटा गया है।

ये भी पढ़े : आलमबाग हाईटेक बस अड्डे में भ्रष्टाचार का खेल, पहली ही बारिश में टपकने लगी छत 

टैल्कम पाउडर में पाया गया ओवेरियन कैंसर बनाने का पदार्थ 

जॉनसन एंड जॉनसन

इसी तरह के 9,000 मामलों सामना आने के बाद जॉनसन एंड जॉनसन को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा है। अभियोगियों जिनमें से छह की पहले ही मौत हो चुकी है, ने आरोप लगाया है कि बच्चों के उत्पाद कंपनी के टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस पाया गया जोकि 1970 के दशक में ओवेरियन कैंसर होने का कारण बना।

जॉनसन एंड जॉनसन ने की अपने खिलाफ फैसले के खिलाफ अपील 

जॉनसन एंड जॉनसन ने फैसले के खिलाफ अपील करने की घोषणा की है। वहीं उसने अपनी दलील में कहा है कि टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस नहीं है या कैंसर कारक पदार्थ नहीं हैं।

Related posts:

भुखमरी खत्म करने में भारत से आगे नेपाल
विश्व ट्रामा दिवस पर केजीएमयू में जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन
थाई राजकुमारी ने बुद्ध के जन्मस्थान का दौरा किया
माँ और जाधव के बीच पाकिस्तान ने बनाई शीशे की दीवार, दुनिया भर में आलोचना
टेस्ट मैच में फेल हुए विराट तो शख्स ने खुद को लगाई आग
Breaking : ब्लाइंड क्रिकेट वर्ल्ड कप में जीता भारत, पाकिस्तान को दी पटखनी...
69 वें गणतंत्र दिवस पर ट्विटर ने लांच किया Republic Day Emoji
गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर हुये डीहाइड्रेशन कर शिकार, हालत गंभीर
सीएसआईआर के शोधों का लाभ अब हिन्द महासागर तटीय देशों को मिलेगा: डॉ.गिरीश
INDvsAFG: पहले दिन टीम इंडिया ने 350 रन बनाने में गंवाए 6 विकेट
चौथे अंतरराष्ट्रीय योग पखवाड़े के समापन समारोह में शामिल हुए उप मुख्यमंत्री
थाईलैंड: गुफा में फंसे बच्चों तक पहुंचने के लिए बनायी जा रहीं हैं चिमनियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *