ख़ास खबरराष्ट्रीयशिक्षा

बिहार बोर्ड मैट्रिक का रिजल्ट अब सोमवार को हो सकता है जारी

नई दिल्ली। बिहार बोर्ड मैट्रिक के नतीजे अब सोमवार तक घोषित होने की उम्मीद है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने यह नहीं बताया कि रिजल्ट्स कब आएंगे पर इतना जरूर कहा है कि अगले चार-पांच दिनों में कभी भी समय दसवीं के परिणाम आ सकते हैं। उम्मीद की जा रही है कि सोमवार तक बिहार बोर्ड मैट्रिक का परिणाम (Bihar Board BSEB 10th Results) घोषित करेगा।

शुक्रवार सुबह से इस बात की पूरी तैयारी थी कि बिहार बोर्ड के मैट्रिक परीक्षा का परिणाम दोपहर दो बजे के बाद किसी भी वक्त जारी कर दिया जाएगा, लेकिन देर शाम खबर आई कि पोस्ट इवैल्यूएशन प्रक्रिया का कुछ काम बाकी होने की वजह से इसे फिलहाल टाल दिया गया है। बिहार स्कूल परीक्षा समिति (BSEB) ने मैट्रिक के रिजल्ट जारी होने की तारीख तो नहीं बताई लेकिन यह जरूर कहा है कि अधिकतम 4-5 दिनों के भीतर किसी भी समय रिजल्ट निकल जाएगा।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के चेयरमैन आनंद किशोर ने कहा कि बोर्ड की ओर से हम अधिकतम 4-5 दिनों की डेडलाइन तय कर रहे हैं और इस दौरान मैट्रिक का परिणाम किसी भी वक्त जारी कर दिया जाएगा। आपको बता दें कि पिछले दो दिन से बिहार बोर्ड के स्टूडेंट्स रिजल्ट के इंतजार में बैठे थे। बिहार बोर्ड से जुड़े उच्च पदस्थ सूत्रों ने हमें बताया था कि शुक्रवार शाम तक हर हाल में रिजल्ट आ जाएगा। हालांकि, शाम को खबर आई कि कॉपियों के मूल्यांकन के बाद जो टॉपर्स की लिस्ट तैयार की गई है, उसका वैल्यूएशन किए जाने की जरूरत है।

गौरतलब है कि इस बार बिहार बोर्ड ने कॉपियों के मूल्यांकन के बाद टॉपर्स का इंटरव्यू वीडियो कॉल के जरिए लिया था, जबकि जब से यह प्रक्रिया शुरू हुई थी उस समय से छात्रों को पटना बीएसईबी मुख्यालाय बुलाकर इंटरव्यू लिया जाता रहा है। इस बार लॉकडाउन की वजह से मेरिट लिस्ट में शामिल छात्रों को पटना बुलाना संभव नहीं हो पाया था। टॉप 10 में शामिल सभी टॉपर्स के इंटरव्यू बुधवार को हो चुके हैं।

इस साल बिहार बोर्ड मैट्रिक में कुल 15.29 लाख छात्र-छात्राएं शामिल हुए थे। इनमें 7.83 लाख लड़कियां थीं। बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षाएं 17 फरवरी से 24 फरवरी के बीच आयोजित हुईं थी।

रिजल्ट में हुई देरी

24 मार्च को बिहार बोर्ड ने इंटर का रिजल्ट जारी कर दिया था। बोर्ड को योजना कुछ ही दिनों बाद मैट्रिक का रिजल्ट जारी करने की थी। लेकिन कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के चलते 31 मार्च के बाद से मूल्यांकन कार्य बाधित रहा। 6 मई से मूल्यांकन कार्य फिर से शुरू किया गया। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए बिहार बोर्ड ने शिक्षकों से उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन करवाया। 6 मई तक मूल्यांकन का 75 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका था।

पिछले साल (2019) 6 अप्रैल को मैट्रिक के परिणाम आए थे। 80.73 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे। बिहार बोर्ड मैट्रिक 2018 की परीक्षा में कुल 68.89 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे। यानी पिछले साल रिजल्ट काफी बेहतर रहा था। 2019 में करीब 12 प्रतिशत स्डूटेंस ज्यादा पास हुए थे। सिमुलतला के सावन राज भारती ने बिहार बोर्ड 10वीं में टॉप किया था। पहले 5 रैंक पाने वाले 8 स्टूडेंट्स सिमुलतला के थे। टॉप 10 स्टूडेंट्स में दो को छोड़कर शेष सभी विद्यार्थी सिमुलतला के थे।

loading...
Loading...