कैराना और नूरपुर से BJP के प्रत्याशी घोषित, जातीय समीकरण-सहानुभूति होंगे चुनावी हथियार

कैराना
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। यूपी के कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए हैं। बीजेपी ने 28 मई को होने वाले उपचुनाव में कैराना से पूर्व सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह और नूरपुर के पूर्व विधायक लोकेंद्र सिंह की पत्नी अवनि सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है।

बता दें कि कैराना के से सांसद हुकुम सिंह की बीमारी और लोकेंद्र सिंह की सड़क हादसे में मृत्यु हो गयी थी। जिसके बाद दोनों सीटें रिक्त खाली हुई थीं।

पढ़ें:- योगी राज में बेख़ौफ़ बदमाश, डिप्टी सीएम के करीबी बीजेपी पार्षद की हत्या 

कैराना और नूरपुर की लड़ाई होगी दिलचस्प

लोकसभा चुनाव के लिहाज से देखा जाए तो इन दोनों सीटों पर चुनाव सत्ता पक्ष और विपक्ष के लिए किसी सेमीफाइनल से कम नहीं है। एक तरफ जहां विपक्ष एकजुट होकर बीजेपी के खिलाफ लड़ रहा है। वहीँ सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के लिए अपनी शाख बचाए रखने की लड़ाई है। दोनों सीटों पर जहां बीजेपी ने सहानुभूति को हथियार बनाकर दोनों मरहूम नेताओं के परिजनों को टिकट दिया है। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष ने जातिये समीकरण पर दांव खेला है।

बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नूरपुर विधानसभा के उपचुनाव में नईमुल हसन को पार्टी का प्रत्याशी घोषित किया है। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि इसके अलावा कैराना लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी कोई कैंडीडेट नहीं उतारेगी। पार्टी राष्ट्रीय लोकदल की प्रत्याशी तबस्सुम हसन को समर्थन देगी।

Related posts:

श्री श्री से मुलाकात के बाद बोले रिजवी-देश में शांति न चाहने वाले, कर रहे है राम मंदिर का विरोध
टेस्ट मैच में फेल हुए विराट तो शख्स ने खुद को लगाई आग
दिल्ली NCR समेत उत्तर भारत में लगे भूकंप के झटके
31 राज्यों के 25 मुख्यमंत्री करोड़पति, जानिए कौन है सबसे धनी
RRB Recruitment 2018: 91 हजार पदों पर होगी भर्ती, जल्द करें आवेदन
अशोक चौधरी के कांग्रेस छोड़ने के बाद बड़ी टूट का संकट, कई विधायक बगावत पर उतरे
बिजली चोरी को लेकर उत्तरप्रदेश सरकार ने लिया बड़ा कदम
चलती बस में 2 भाइयों ने की युवती से छेड़छाड़, एक को पुलिस ने दबोचा
मायावती के करीबी रहे अफसर का आरोप, बसपा सरकार ने एससी-एसटी एक्ट को कमजोर किया
अखिलेश ने 1995 में गठबंधन टूटने के लिए सपा के बड़े नेता इस को ठहराया जिम्मेदार
सीएसआईआर के शोधों का लाभ अब हिन्द महासागर तटीय देशों को मिलेगा: डॉ.गिरीश
Breaking: एबी डी विलियर्स ने इस कारण से क्रिकेट से लिया संस्यास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *