कुंठित बीजेपी सरकार ने किसानों को बांटे एक, सात और बीस रुपये के चेक : अखिलेश

किसानोंकिसानों

लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बने बुधवार को योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। अखिलेश ने किसानों के मुद्दे पर सरकार घेरते हुए कहा कि किसानो की प्रदेश में स्थिति चिंताजनक है। कर्जमाफी के नाम पर एक रूपए, सात रूपए और बीस रूपए तक के चेक बंटे है और समय पर सिंचाई की सुविधा नहीं मिल रही है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि अपराधों पर रोक लगाने में नाकाम और कुंठित बीजेपी सरकार आलू किसानों की पीड़ा समझने के बजाय झूठे मुकदमों में फंसाने की साजिश करने में कोई संकोच तक नहीं करती है।

पढ़ें:-प्रद्युम्‍न हत्याकांड : कोर्ट ने बस कंडक्टर अशोक को आरोपों से किया बरी 

किसानों के मुद्दे पर अखिलेश का वार

अखिलेश यादव ने किसानो के मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए कहा कि बुन्देलखंड में किसान संकट से जूझ रहे हैं. यहां पर खाद-बीज तक की कमी है। जब किसान अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन करते हैं तो उनकी आवाज दबाने के लिए बल प्रयोग होता है। उन्होंने आगे कहा कि महोबा, बांदा, हमीरपुर में किसान आत्महत्या कर चुके हैं।महोबा के किसान का जिक्र करते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा महोबा में 55 वर्षीय किसान उमा शंकर की जब फसल छुट्टा जानवरों ने बर्बाद कर दी तो क्षोभ और अवसाद में गत सोमवार को उसने आत्महत्या कर ली। उस पर 18 लाख रूपए का कर्ज भी था।

बीजेपी के राज में किसानो का हो रहा उत्पीड़न

अखिलेश ने बीजेपी के राज में किसान का उत्पीड़न किये जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी राज में किसानो के उत्पीड़न एवं आत्महत्या करने का सिलसिला जारी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों से लगातार धोखा हो रहा है। किसानों को कृषि उत्पाद के लागत मूल्य में 50 प्रतिशत अतिरिक्त मूल्य देने और किसानों की आय दुगनी करने के वादा का क्या हुआ? किसानों की कर्जमाफी के नाम पर एक रूपए, सात रूपए और बीस रूपए तक के चेक बंटे है।

loading...
Loading...

You may also like

24 घंटे के भीतर खुलासा, दुष्कर्म के बाद शिवम की गला घोंट की गई थी हत्या

लखनऊ। बंथरा इलाके में दो दिन पहले घर