शादी का झांसा देकर बीजेपी विधायक ने नौकरानी की बेटी से किया दुष्कर्म

नौकरानीनौकरानी

बरेली। योगी सरकार में बीजेपी विधायकों पर हत्या और बलात्कार का आरोप बढ़ता ही जा रहा है। इसी क्रम में बदायूं  के बिसौली से भाजपा विधायक कुशाग्र सागर पर घर की नौकरानी की बेटी से दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। मंगलवार को पीड़िता अपनी मां के साथ एसएसपी के सामने पेश हुई। पीड़ित युवती ने आरोप लगाया है कि कुशाग्र ने उसके साथ करीब 5 साल पहले दुष्कर्म किया था। युवती ने बताया कि वो उस वक़्त नाबालिग थी और कुशाग्र भी विधायक नहीं थे। कुशाग्र ने पीड़िता को अपने ग्रीन पार्क स्थित घर बुलाकर उसके साथ संबंध बनाए थे।

बीजेपी विधायक ने नौकरानी की बेटी से किया दुष्कर्म

बंदायु के बिसौली से भाजपा विधायक कुशाग्र सागर पर नौकरानी की बेटी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। युवती ने बताया कि 5 साल पहले कुशाग्र ने उसके साथ अपने घर पर दुष्कर्म किया था। उस वक़्त नाबालिग होने के कारण कुशाग्र और उनके परिवार वालों ने उसे बालिग होने पर शादी करने का झांसा देकर चुप करा दिया था। इसके बाद भी पांच साल तक कुशाग्र युवती के साथ शारीरिक शोषण करते रहे। अब वह अपना वादा तोड़कर कहीं और शादी करने जा रहे हैं। इस मामले में बरेली एसएसपी ने पुरे मामले की जांच सीओ नीति द्विवेदी को सौंप दी है।

ये भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने के नाम पर जनता का उड़ाया मजाक, 60 नहीं सिर्फ 1 पैसे की गिरावट 

कुशाग्र के पिता थे बसपा के विधायक

बंदायु के विधायक कुशाग्र सागर पर बारादरी में रहने वाली एक महिला की बेटी के साथ बलात्कार का गंभीर आरोप लगाया है। विधायक कुशाग्र के पिता पूर्व विधायक योगेंद्र सागर मायावती की पार्टी बसपा के विधायक थे। पीड़िता ने बताया कि उसकी मां योगेन्द्र सागर के ग्रीन पार्क स्थित आवास पर काम करती थी। वह कई बार अपने साथ बेटी को भी लेकर काम पर जाती थी। आरोप है कि 2012 में योगेंद्र के बेटे कुशाग्र सागर ने नौकरानी की नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म किया था। उसने पीड़िता को धमकी देकर झांसा दिया कि वह उससे शादी कर लेगा। उसे अलग घर लेकर उसमें रखा गया। पीड़िता 2014 तक खामोश रही, इस दौरान भी शारीरिक संबंध बनाए जाते रहे और कुशाग्र भी विधायक बन गए। इस मामल एमे पीड़िता ने बताया कि जुलाई 2014 में वो एसएसपी के पास विधायक के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।

loading...
Loading...

You may also like

आमंत्रित निविदा को निरस्त कराने के लिये धरने पर बैठे सभासद

सिद्धार्थनगर। नगर पालिका परिषद सिद्धार्थ नगर के अधिषासी