ममता जानबूझ कर संवैधानिक संकट खड़ा करने का कर रही हैं प्रयास : भाजपा

संवैधानिक संकटसंवैधानिक संकट

नई दिल्ली। अभिषेक बनर्जी से जुड़े घटनाक्रम को लेकर ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए भाजपा ने सोमवार को आरोप लगाया। बीजेपी ने कहा कि तृणमूल नेता और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री जानबूझ कर हर स्तर पर संवैधानिक संकट खड़ा करने का प्रयास कर रही हैं। राज्य में भय का माहौल और परिवेश व्याप्त हो गया है।

सीमाशुल्क अधिकारियों को राज्य की पुलिस ने धमकाया

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन और राज्यसभा सदस्य स्वप्न दासगुप्ता ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि कोलकाता हवाई अड्डे पर तृणमूल कांग्रेस प्रमुख के रिश्तेदार समेत दो महिलाओं के सामान की जांच करने वाले सीमाशुल्क अधिकारियों को राज्य की पुलिस ने धमकाया।

यह सामने आना चाहिए कि सूटकेस के अंदर क्या था ?

शाहनवाज हुसैन ने कहा कि ऐसा लगता है कि प्रदेश की पुलिस एक परिवार को बचाने का प्रयास कर रही है। उनका इशारा ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक के संदर्भ में था जिनकी पत्नी के सामान की अधिकारियों ने जांच करने की कोशिश की थी। उन्होंने कहा कि यह सामने आना चाहिए कि सूटकेस के अंदर क्या था ? मुख्यमंत्री को लोगों को बताना चाहिए कि क्यों कोलकाता पुलिस ने सीमाशुल्क अधिकारियों को जांच करने से रोका और धमकाने का प्रयास किया। हुसैन ने आरोप लगाया कि प्रदेश की पुलिस ने सीमाशुल्क अधिकारियों को धमकाया।

ये भी पढ़ें :-अमित शाह के खिलाफ चुनाव लड़ सकता है ये नेता, भाजपा का है 1989 से कब्जा 

सीमाशुल्क अधिकारियों ने भाजपा नेताओं के उन आरोपों को खारिज किया : अभिषेक

राज्यसभा सदस्य स्वप्न दासगुप्ता ने पूछा कि कोलकाता पुलिस उस क्षेत्र में क्यों घुसी जो सीमाशुल्क अधिकारियों के अधिकार क्षेत्र के दायरे में आता है। भाजपा नेताओं ने जोर दिया कि तृणमूल नेता और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री जानबूझ कर हर स्तर पर संवैधानिक संकट खड़ा करने का प्रयास कर रही हैं और राज्य में भय का माहौल और परिवेश व्याप्त हो गया है। गौरतलब है कि लोकसभा सदस्य अभिषेक ने इस संबंध में कहा था कि सीमाशुल्क अधिकारियों ने भाजपा नेताओं के उन आरोपों को खारिज किया कि उनकी पत्नी ने कानून का उल्लंघन किया था।

Loading...
loading...

You may also like

यौन शोषण के मामलों की तत्काल जांच  करेगी ‘बलात्कार जांच किट्स

🔊 Listen This News नयी दिल्ली| गृह मंत्रालय