Main Sliderउत्तराखंडख़ास खबरराजनीतिराष्ट्रीयव्यापारस्वास्थ्य

हरिद्वार और ऋषिकेश में अस्थियां अब प्रवाहित की जा सकेंगी, उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने गुरुवार को कैबिनेट बैठक के दौरान कई बड़े फैसले लिए। इस दौरान शराब के साथ ही पेट्रोल डीजल पर अतिरिक्ट टैक्स लगाया गया। साथ ही त्रिवेंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया। अब शुक्रवार से हिंदू समुदाय के लोग हरिद्वार और ऋषिकेश में अस्थियां प्रवाहित कर सकेंगे। सरकार के अनुसार हिंदू रीति रिवाज में मृतक का अंतिम संस्कार करने के बाद उसकी अस्थियों को गंगा नदी में प्रवाहित करने बड़ी संख्या में लोग हरिद्वार और ऋषिकेश आते हैं। कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन के बाद से ही लोग नहीं आ पा रहे थे। अब सरकार ने ऐसे लोगों को अस्थियां प्रवाहित करने की इजाजत दे दी है।

शराब के शौकीनों को झटका, उत्तराखंड में भी शराब हुई महंगी

उत्तराखंड सरकार ने भी शराब पर हैल्‍थ टैक्स लगाने की घोषणा कर दी है। मुख्यमंत्री ‌ त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई कैबिनेट बैठक में इसका फैसला किया गया। इस फैसले के बाद अब देसी शराब की बोतल पर 20 रुपये, इंपोर्टेड शराब पर 450 रुपये और विदेशी शराब की बोतल पर 20 से 200 रुपये तक का इजाफा किया गया है।

देश के अलग-अलग स्थानों पर अगले 24 घंटे के दौरान भारी वर्षा होने का अनुमान

सरकार के इस फैसले से शराब के शौकीनों को भले ही बड़ा झटका लगा हो, लेकिन त्रिवेंद्र सरकार को इससे 250 करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व मिलने का अनुमान है। राजस्व जुटाने की दिशा में उत्तराखंड में शराब का नंबर सबसे टॉप पर आता है। उत्तराखंउ में कुल राजस्व का करीब बीस फीसदी शराब से ही आता है, जबकि बीते वित्तीय वर्ष में अकेले शराब से सरकार ने राजस्व लक्ष्य 3200 करोड़ के सापेक्ष 29 सौ करोड़ की कमाई की। इससे उत्साहित सरकार ने इस बार 3600 करोड़ का टारगेट रखा है यानी दस करोड़ रुपए प्रतिदिन की इनकम।

पेट्रोल और डीजल के रेट भी बढ़े

पेट्रोल पर भी प्रति लीटर दो रुपए बढ़ा दिए गए हैं। इससे पेट्रोल की कीमत अब 72.56 प्रति लीटर से बढ़कर 74.56 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी, तो डीजल की कीमत में एक रुपए प्रति लीटर की बढोत्तरी की गई है। अब सूबे में डीजल की कीमत अब 64.19 रुपए प्रति लीटर हो गई है।

loading...
Loading...