सगे भाई पार्टियों से उड़ाते थे उपहार के लिफाफों से भरा बैग, पूरा गांव करता है टप्पेबाजी

- in Main Slider, क्राइम, लखनऊ
सगे भाई पार्टियों से उड़ाते थे

लखनऊ। हजरगंज और सर्विलांस सेल की पुलिस ने शादी, व पार्टियों में जाकर कीमती जेवरात, नगदी से भरा बैग चोरी करने वाले शातिर भाईयों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों के कब्जे से रुपयों से भरे उपहार के लिफाफे बरामद किए है। लिफाफों से पुलिस को 97 हजार 9 सौ रुपये नगद बरामद हुए हैं।

एएसपी सर्वेश मिश्रा ने बताया कि बुधवार रात्रि मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए मोती महल लॉन के बाहर पहले से ही घेराबन्दी कर ली थी। कुछ ही देर में मौके पर आरोपित पहुंच गए। लॉन के बाहर भारी पुलिस बल देखकर आरोपित भागने लगे। इस पर पुलिस टीम ने आरोपितों को दौड़ाकर दबोच लिया।

पूछताछ में आरोपितों ने अपना नाम मध्य प्रदेश राजगढ़ ग्राम गुलखेड़ी निवासी प्रशान्त और शिवा बताया है। आरोपितों की जामा-तलाशी के दौरान पुलिस को शादी में उपहार के रूप में नगदी से भरे 21 और 6 खाली लिफाफे बरामद हुए हैं। लिफाफों से पुलिस को 97 हजार 9 सौ रुपये नगद बरामद हुए हैं।

श्री मिश्र ने बताया कि दोनों ही आरोपित सगे भाई हैं। आरोपितों के गांव में सभी टप्पेबाज रहते हैं। आरोपित शादी के सीजन में अपने गांव से अन्य प्रदेशों में पहुंच जाते हैं। शादी या पार्टियों में आरोपित अच्छे कपड़े पहन कर जाते थे। पार्टी आयोजक की शिना त कर आरोपित उनके पीछे लग जाते थे। मौका लगते ही लिफाफों से भरा बैग पार कर देते थे। इसके अलावा आरोपित नजदीकियां बढ़ाकर वर व वधु के कमरे में पहुंच कर जेवरात से भरा बैग चोरी करते थे।

समारोह स्थल के बाहर खड़ी मां थमाते थे चोरी का माल

श्री मिश्र ने बताया कि आरोपितों के पिता डब्बा उर्फ रवि भी टप्पेबाजी की वारदातों को अंजाम देता है। अपराध में आरोपितों की मां अन्नो भी उनका साथ देती थी। अन्नो और दोनों भाई वारदात को अंजाम देने के लिए एक साथ निकलते थे। समारोह स्थल से कुछ दूरी पर अन्नो रूक जाती थी और शातिर बेटों का इन्तजार करती रहती थी। शातिर भाई टप्पेबाजी की वारदात को अंजाम देकर समारोह स्थल से बाहर निकल आते थे। यहां पहले से खड़ी अपनी मां को नगदी और जेवरात से भरा बैग थमा देते थे। जिसके बाद तीनों अलग रास्तों से अपने ठिकाने पहुंचते थे।

ये भी पढ़ें:- नकबजन गिरोह का पर्दाफाश: तीन गिरफ्तार, नगदी और जेवरात बरामद

बैग चोरी करने वाले को कहते है टॉपर

श्री मिश्र ने बताया कि आरोपितों का पूरा गांव ही टप्पेबाजी की वारदात को अंजाम देता है। शादी के सीजन में सभी वारदातों को अंजाम देने के लिए गुट में अन्य प्रदेशों में पहुंचते हैं। शातिर अपने साथ अच्छे कपड़े और नगदी लेकर चलते थे। होटल या फिर धर्मशालाओं को अपना ठिकाना बनाते है। पार्टी या शादी समारोह में शामिल होकर बैग चुराने वाले को यह लोग टॉपर कहते है। शिना त होने के डर से हर दूसरे दिन टॉपर बदल जाता है।

Loading...
loading...

You may also like

जानलेवा हमले के फरार आरोपितों के घर पुलिस ने बजवाई डुगडुगी

लखनऊ। गुडम्बा थाना क्षेत्र में तिलक समारोह में