मायावती के इस बड़े ऐलान से दलित समाज में दौड़ी ख़ुशी की लहर, बीजेपी की बढ़ी टेंशन

दलितदलित

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने भारत बंद के दौरान हिंसा को लेकर दलित नेताओं पर गलत आरोप लगाए जाने की बात कही। उन्होंने आरोप लगाया है कि बीजेपी सरकार दलित नेताओं को फंसाने की कोशिश कर रही। साथ ही उन्होंने एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के फैसले के खिलाफ 2 अप्रैल को हुए भारत बंद के आन्दोलन को सफल बताया है। इसके साथ ही मायावती ने दलितों को लेकर बड़ा ऐलान किया है।

पढ़ें:- मोदी सरकार खिलाफ बगावत पर उतरे पार्टी के चार बड़े नेता, सपा-बसपा में जल्द हो सकते हैं शामिल 

दलित के लिए मायावती का बड़ा ऐलान

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि दलित नेताओं को सरकार झूठे आरोपों में फंसा रही है। प्रदेश में दोबारा उनकी सरकार बनने पर वह दलितों के खिलाफ सभी मुकदमे वापस ले लेंगी। मायावती के इस ऐलान को दलितों का भरोसा जीतने के लिए बड़ा हथियार माना जा रहा है। उन्होंने कहा कि एससी एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ भारत बंद में शामिल होने वाले लोगों का पुलिस उत्पीडऩ कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि दलितों को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने धमकी भरे लहजे में कहा है कि दलितों के खिलाफ बेवजह मुक़दमे दर्ज कर बीजेपी आग से न खेले।

पढ़ें:- अखिलेश यादव का बड़ा बयान, कहा- गठबंधन का मकसद बीजेपी को हराना नहीं 

भारत बंद आन्दोलन से भयभीत हुई सरकार

मायावती ने देश भर में दो अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के खिलाफ भारत बंद को बेहद सफल बताया है। मायावती ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दो अप्रैल को बुलाया गया भारत बंद बेहद सफल रहा है। इस आन्दोलन ने बीजेपी को परेशान कर दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि भारत बंद की कामयाबी के कारण अब बीजेपी शासित राज्यों में दलितों पर अत्याचार हो रहा है। निर्दोष दलित और उनके परिवार के सदस्यों को गिरफ्तार किया जा रहा है। दलित समुदाय के सदस्यों को प्रताडि़त किया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि आंदोलन में हिस्सा लेने वाले दलितों पर अत्याचार की खबरें मिल रही हैं। यह रुकना चाहिए।

आन्दोलन को लेकर मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि दो अप्रैल को भारत बंद की सफलता से बीजेपी बेहद भयभीत है। देश में इमरजेंसी से बदतर हालात हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी आग से खेल रही है।

Loading...
loading...

You may also like

पाँच दिन पूर्व गायब हुए व्यापारी का नदी में मिला शव

सिद्धार्थनगर। मोहाना थाना क्षेत्र के ग्राम गढ़मोर से