लोस चुनाव: भाजपा में बगावत शुरू, बसपा में शामिल होंगे में दर्जन भर से ज्यादा सांसद

भाजपाभाजपा

लखनऊ। देश में होने वाले आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा एक बड़ा बदलाव कर सकती है। भाजपा मौजूदा समय अपने सांसदों में से 150 नेताओं का टिकट काट सकती है। जिसे लेकर यूपी समेत अन्य प्रदेशों में भाजपा के खेमे में हड़कंप मच गया है। स्थिति ये है कि टिकट काटे जाने पहले ही पार्टी के नेता दूसरी पार्टियों में जाने की तैयारी में जुट गए हैं। सूत्रों की माने तो भाजपा की इस रणनीति का फायदा बसपा को मिल रहा है। यूपी के कई बड़े नेता बसपा में जाने की तैयारी में हैं। बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में मायावती की पार्टी अपना खाता भी नहीं खोल पायी थी।

पढ़ें:- बीजेपी को सता रहा है हार का डर, सुषमा स्वराज-जोशी समेत इन दिग्गजों का भी कटेगा टिकट 

भाजपा के पांच सांसदों ने बसपा नेता से की मुलाकात

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा के कई सांसद बसपा से टिकट पाने की जुगाड़ में हैं। इनमें से पांच सांसद तो बसपा के एक ताक़तवर नेता से दिल्ली में मुलाकात भी कर चुके हैं। भाजपा के तीन और सांसदों ने बसपा के एक राज्य सभा सांसद से अपने मन की बात की है. अब फैसला सुप्रीमो मायावती को करना है।

बता दें कि भाजपा इस बार अपने कई नेताओं के टिकट कटाने की तैयारी में है। जिसमें विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, मुरली मनोहर जोशी, लाल कृष्ण आडवाणी, सावित्री बाई फुले, उमा भारती समेत कई नेताओं का नाम शामिल है।

पढ़ें:- लोकसभा चुनाव में बीजेपी से टिकट लेने वाले 90 फ़ीसदी प्रत्याशी हारेंगे : बीजेपी सांसद 

यूपी के बसपा-सपा गठबंधन के कारण काटे जा रहे हैं टिकट

कहा जा रहा है कि यूपी में बसपा-सपा के गठबंधन की आहट से ही भाजपा के कई सांसदों की नींद उड़ गई है। इस सांसदों को लगने लगा है कि दोनों पार्टियों के मिल जाने से उनके लिए पार्टी में रहने पर उम्मीदें ख़त्म हो जायेंगी। सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि ऐसे एक दो नहीं, बल्कि सांसदों की गिनती 13 तक पहुंच गई है। ऐसे अधिकतर सांसद यूपी के अवध क्षेत्र में से हैं। इनमें से एक तो मोदी सरकार में मंत्री भी हैं।

इसके अलावा पूर्वांचल के भी दो सांसद भी बसपा से टिकट लेने की जुगाड़ में हैं। भाजपा का दामन छोड़ने को बेक़रार दो ऐसे भी सांसद हैं जो पहले बीएसपी में रह चुके हैं। दो सांसद लगातार अपनी ही पार्टी के ख़िलाफ़ हल्ला बोलते रहे हैं। इनमें से एक तो आरक्षण के नाम पर रैली भी कर चुकी हैं, लेकिन बसपा के एक ताक़तवर नेता ने बताया कि उन्हें पार्टी में लेने का कोई इरादा नहीं है।

loading...
Loading...

You may also like

मेरठ छावनी में तैनात सेना का जवान गिरफ्तार, पाकिस्तान के लिये करता था जासूसी

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ छावनी में तैनात