बजट 2020 : कम हो सकता है फर्टिलाइजर का दाम, किसानों को मिल सकती है राहत

खादखाद

राष्ट्रीय डेस्क. साल 2020 का यूनियन बजट 1 फरवरी को आने वाला है. इस नये बजट से लोगो को कई उम्मीदे हैं. 2020 के बजट को लेकर लोगो को कई चींजों में राहत मिलने की अपेक्षाएं हैं.आम आदमी जहां टैक्स और महंगाई से राहत चाहता है, वहीं इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर बुस्टअप चाहता है. इसमें किसानों को भी राहत मिलने की उम्मीद है. हो सकता है कि इस बजट में खाद का दाम कम हो जाए.

कोरोनो वायरस : सीएम योगी ने स्वास्थ्य विभाग से कहा कि हर जिलें में आइसोलेशन वॉर्ड बनाए जाएं 

सरकार देश में विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए आने वाले बजट में फर्टिलाइजर (उर्वरक) उद्योग में उपयोग होने वाले कच्चे माल पर आयात शुल्क कम कर सकती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार फर्टिलाइजर उद्योग में इस्तेमाल होने वाले कच्चे माल पर आयात शुल्क में कटौती पर विचार कर रही है।

सूत्रों के हवाले से दी गई जानकारी में बताया गया है कि डाई अमोनियम फास्फेट (डीएपी) में उपयोग होने वाले रॉक फास्फेट और सल्फर जैस कच्चे माल पर कम आयात शुल्क से घरेलू उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा और आयात बिल में कमी आएगी।

फिलहाल इस प्रकार के आयात पर 5 फीसदी शुल्क लगता है। वहीं देश में डीएपी की कुल जरूरत का लगभग 95 फीसदी हिस्सा वैश्विक बाजार से आयात किया जाता है। जबकि यूरिया की कुल जरूरत का लगभग 30 फीसदी आयात किया जाता है। इस वित्त वर्ष में अप्रैल से दिसंबर के दौरान देश में कच्चे और तैयार फर्टिलाइजर का आयात 8.47 फीसदी बढ़कर 6.2 अरब डॉलर हो गया है।

वाणिज्य मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय से घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने की मांग की है। इसके लिए मंत्रालय ने आयात बिल में कमी लाने को लेकर 300 जिंसों पर मूल सीमा शुल्क को युक्तिसंगत करने का सुझाव दिया है। वाणिज्य मंत्रालय ने रद्दी कागज और लुग्दी पर आयात शुल्क हटाने का प्रस्ताव भी दिया है, दोनों पर फिलहाल क्रमशः 10 फीसदी और 5 फीसदी शुल्क लगता है।

loading...
Loading...

You may also like

मौसम का मजा दोगुना कर देगा ‘बेक्ड आलू विद लेमन’

🔊 Listen This News लाइफ़स्टाइल। बारिश में पकौड़े