Main Sliderउत्तर प्रदेशक्राइमबुलंदशहरराष्ट्रीय

बुलंदशहर : प्रवासी मजदूरों से भरी पिकअप वैन पलटी, दो की मौत, 28 घायल

बुलंदशहर। कोरोना वायरस संकट काल के बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रवासी मज़दूरों के साथ हो रहे हादसों की खबर लगातार आ रही हैं। शुक्रवार को एक बार फिर उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में दो प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई। यहां प्रवासी मजदूरों से भरी एक पिकअप वैन, बिजली के पोल से टकरा गई जिसके बाद वैन पलट गई और दो मजदूरों की मौत हो गई।

इस हादसे में करीब डेढ़ दर्जन मजदूर घायल भी हुए हैं, जिन्हें स्थानीय पुलिस के द्वारा अस्पताल पहुंचाया गया है। ये मज़दूर गुजरात के सूरत से उत्तर प्रदेश के बिजनौर जा रहे थे, लेकिन बीच में ही ये हादसा हो गया।

सुप्रीम कोर्ट का केंद्र सरकार को दिया निर्देश, एनबीसीसी को 500 करोड़ दिए जाएं

शुक्रवार सुबह बुलंदशहर के दिल्ली-बदायूं हाइवे के पास एक गांव में ये हादसा हुआ, जिन दो मज़दूरों की मौत हुई है उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

प्रवासी मजदूरों के साथ सड़क हादसें

गौरतलब है कि देश में 25 मार्च से लागू लॉकडाउन के बाद प्रवासी मजदूरों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। कई जगह मजदूर फंसे रहे, जिसके बाद वो पैदल ही घर की ओर रवाना होने लगे. कुछ जगह मजदूर पैदल नज़र आए तो कई जगह साइकिल से ही घर के लिए रवाना हो गए।

इस बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में मजदूरों के साथ हादसे की खबर आती रही है। बीते दिनों उत्तर प्रदेश के ही ओरैया में एक एक्सीडेंट में दो दर्जन से अधिक मजदूरों की मौत हो गई थी, जिसके बाद सरकार की काफी आलोचना हुई थी। इससे पहले महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक मालगाड़ी ने रेलवे ट्रैक पर मौजूद मजदूरों को रौंद दिया था।

अब सिर्फ 20 मिनट में होगा कोरोना टेस्ट, लैब में जांच कराने की नहीं होगी जरूरत

बता दें कि मजदूरों को वापस पहुंचाने के लिए यूं तो सरकार की ओर से श्रमिक ट्रेन चलाई जा रही है, जिसमें 30 लाख से अधिक मजदूरों के वापस पहुंचने का दावा भी किया गया है। हालांकि, प्रवासी मजदूरों की संख्या इतनी अधिक है कि हर किसी के पास अभी तक मदद नहीं पहुंच पाई है।

loading...
Loading...