देशभर के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में कैंपस प्लेसमेंट का दौर शुरू

कैंपस प्लेसमेंट
Loading...

नई दिल्ली। देशभर के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT – Indian Institute of Techonology) में रविवार से कैंपस प्लेसमेंट का दौर शुरू हो गया। महज चार से पांच घंटे लंबे पहले ही सत्र में छात्रों को डेढ़ करोड़ रुपये सालाना से पैकेज की पेशकश कर दी गई। पहले दिन तीन से पांच प्लेसमेंट सत्र हर आईआईटी में देर रात तक आयोजित किए गए।

रविवार को पहले सत्र में 20 कंपनियों ने 102 प्रस्ताव छात्रों को दिए। इनमें से चार इंटरनेशनल पैकेज में सालाना करोड़ों रुपये की पेशकश की गई थी। ये पेशकश माइक्रोसॉफ्ट, कोहेसिटी, सेल्सफोर्स व उबर ने दी है। माइक्रोसॉफ्ट ने 20, गोल्डमैन सॉक्स ने 11, बोस्टन कंस्लटिंग ग्रुप ने सात तो क्वालकॉम ने नौ छात्रों को नौकरी का प्रस्ताव दिया है।

इसके अलावा इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन, ISRO) ने भी छह प्रस्ताव दिए हैं। उधर, आईआईटी दिल्ली में भी बड़ी कंपनियों ने करोड़ों रुपये के सालाना पैकेज ऑफर किए हैं। आईआईटी दिल्ली के 150 छात्रों को प्लेसमेंट ऑफर मिल चुका है। इनमें से 147 को देश में, जबकि तीन को विदेश में कंपनियों ने जॉब ऑफर दिया है। विदेश में नौकरी का प्रस्ताव पाने वाले तीन छात्रों को 1.25 करोड़ से लेकर 1.75 करोड़ सालाना तक का सैलरी पैकेज ऑफर किया गया है।

आईआईटी हैदराबाद की कैंपस प्लेसमेंट के फैकल्टी इंचार्ज प्रो. प्रदीप येमुला के मुताबिक, पहले दिन छह इंटरनेशनल पैकेज के साथ अलग-अलग सत्र में 56 पेशकश मिली। पहली बार बड़ी कंपनियां लड़कियां को तरजीह दे रही हैं। माइक्रोसॉफ्ट ने सबसे अधिक 17 प्रस्ताव दिए हैं, जिनमें पांच लड़कियों को मिले हैं। गोल्डमैन के तीन में से दो प्रस्ताव लड़कियों के हिस्से में गए। यहां कुल 477 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है, जबकि 224 कंपनियां शिरकत कर रही हैं।

आईआईटी बीएचयू में कैंपस सेलेक्शन के पहले दिन रविवार को 360 छात्र-छात्राओं को अलग-अलग कंपनियों में जॉब ऑफर मिला। चार छात्रों को सबसे अधिक डेढ़ करोड़ रुपये का सालाना पैकेज ऑफर किया गया। ज्यादातर अभ्यर्थियों को 11 लाख से लेकर 58 लाख रुपये तक के पैकेज पर ऑफर लेटर दिया गया है।

आईआईटी और इंडस्ट्री विशेषज्ञों का मानना है कि अभी तक माइक्रोसॉफ्ट का कैंपस प्लेसमेंट में बोलबाला था। हालांकि दिसंबर 2019 के कैंपस प्लेसमेंट में माइक्रोसॉफ्ट के साथ सेल्सफोर्स भी आगे रहेगी। कोहेसिटी और उबर जैसी बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियां 2020 बैच से सॉफ्टवेयर डेवलपर हायर करना चाहती हैं। इसलिए मांग के आधार पर ऑफर का पैकेज भी अधिक होगा।

Loading...
loading...

You may also like

हैदराबाद एनकाउंटर : पुलिस ने कहा, कानून ने अपना कर्तव्य निभाया

Loading... 🔊 Listen This News हैदराबाद। एनकाउंटर पर