Whatsaap यूजर्स के किए बुरी खबर, सरकार जल्द कर सकती है बैन

वॉट्सऐपवॉट्सऐप

नई दिल्ली। फ़ेक न्यूज़ को लेकर भारत सरकार और Whatsaap के बीच काफी समय से मतभेद चल रहा हैं। भारत सरकार ने वॉट्सऐप के मैसेज को ट्रैक करने की अनुमति मांगी थी, लेकिन प्राइवेसी का हवाला देते हुए वॉट्सऐप ने ऐसा करने से साफ इंकार कर दिया। अब सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मंत्रालय वॉट्सऐप को तीसरा नोटिस भेजने पर विचार कर रही है।

ये भी पढे : जारी हुआ प्रधानमंत्री मोदी के सम्पतियों का विवरण, 4 साल में आया इतना बदलाव 

 जुलाई के बाद से Whatsaap को ये तीसरा आधिकारिक पत्र

जुलाई के बाद से वॉट्सऐप को ये तीसरा आधिकारिक पत्र होगा। इस पत्र के जरिए सरकार फेसबुक के स्वामित्व वाली इस कंपनी को याद दिलाने की कोशिश करेगी कि उसे सरकार की मांगे  पूरी करनी होगी नहीं तो देश में वॉट्सऐप को बैन कर दिया जाएगा। इन मांगों में से एक अहम मांग है कि मैसेज के सोर्स की जानकारी हासिल करने की अनुमति मिले। हालाकी वॉट्सऐप ने  कई ऐसे बदलाव किए हैं, जिससे फ़ेक न्यूज़ न फैलें जैसे कि केवल पांच ग्रुप में एक बार में कोई भी खबर भेजी जा सकती है, जो की पहले 250 में भेजी जा सकती थी।

ये भी पढे : Amazon पर अब EMI पर समान लेना हुआ आसान, जानिए

वॉट्सऐप पर फर्जी खबरों को आगे भेजने के कारण हो रही घटनाए 

देश में मॉब लिंचिंग से हत्या की कई घटनाएं सामने आई हैं। बता दें की ऐसी घटनाएं वॉट्सऐप पर फर्जी खबरों को आगे भेजने के कारण हुई हैं। सरकार वॉट्सऐप को पहले ही दो नोटिस भेजे जा चुके है। दूसरे नोटिस में कंपनी को चेतावनी दी गई थी कि यदि वह ऐसे मामले में चुप्पी साधे बैठी रही तो उसे कानूनी नतीजे भुगतने होंगे।

loading...
Loading...

You may also like

अल्पसंख्यकों का उत्पीडऩ किसी भी सूरत में नहीं किया जाएगा बर्दाश्त- शिवपाल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी से अलग होकर प्रगतिशील सपा