CBSE हुआ ‘स्टूडेंट फ्रेंडली’: बोर्ड परीक्षा पैटर्न में किए कई बदलाव

नया सत्र सीबीएसईनया सत्र सीबीएसई
Loading...

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE )की परीक्षा लगभग दो हफ्ते पहले शुरू हो रही है। लेकिन इसी के साथ सीबीएसई ने अपने प्रश्न पत्र के पैटर्न में काफी बड़े बदलाव किए हैं, जो स्टूडेंट्स के लिए राहत की बात है।

CBSE : इस साल 25 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे प्रश्न 

फरवरी से शुरू हो रही सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में स्टूडेंट फ्रेंडली बदलाव किए गए हैं। कहा जा रहा है कि इस बार ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नों की संख्या बढ़ा दी गई है।एक अधिकारी ने इस बारे में कहा कि हर बार लगभाग 10 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होते हैं। हालांकि इस साल 25 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे। इसका फायदा यह है कि इससे छात्रों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे अच्छे अंक हासिल कर पाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि अगर कोई स्टूडेंट किसी प्रश्न को लेकर कॉन्फिडेंट नहीं है तो उसके पास लगभग 33 प्रतिशत प्रश्न विकल्प के तौर पर मौजूद है।

ये भी पढ़ें :-यूपी के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय का कार्यकाल छह महीने बढ़ा 

सेक्शन में बटेंगा पेपर

इस बार स्टूडेंट्स को अरेंजड प्रश्नपत्र मिलेंगे। कहने का मतलब है कि सारे ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न एक ही सेक्शन में होंगे और सबजेक्टिव प्रश्न दूसरे सेक्शन में।

परीक्षा केंद्रों में किए चार  बदलाव

  • इस बार स्टूडेंट्स को परीक्षा केंद्र पर 10 बजे के बाद एंट्री नहीं मिलेगी।
  • सुबह साढ़े 10 बजे परीक्षा शुरू हो जाएगी, ऐसे में आपको सेंटर पर आधे घंटे पहले पहुंचना होगा।
  • सभी छात्रों को स्कूल यूनिफॉर्म में प्रवेश दिया जाएगा। बिना यूनिफॉर्म केंद्र में एंट्री नहीं होगी।
  • इस बार प्रवेश पत्र पर छात्र और प्रिंसिपल के साथ पेरेंट्स के भी हस्ताक्षर होने जरुरी होंगे। ऐसा नहीं होने पर छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
  • परीक्षा को दौरान छात्र केवल अपने साथ पेन, पेंसिल, प्रवेश पक्ष और परादर्शी बैग लेकर जा सकते हैं। किसी भी हालत में कोई लिखित सामग्री, मोबाइल पर्स और स्मार्टवॉच ले जाने की अनुमति नहीं होगी।
Loading...
loading...

You may also like

ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट ने कई लड़कियों से बनाए संबंध, VIDEO लीक

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। ओलंपिक