केंद्र ने मानी सुप्रीम कोर्ट की राय तो दहेज़ प्रथा पर लग जायेगी पूर्णतया: रोक

सुप्रीम कोर्ट
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। केंद्र ने अगर  सुप्रीम कोर्ट की सलाह मानी तो आने  वाले समय में हो सकता है आपको अपने घर में होने वाले शादी समारोह के खर्चे का पूरा ब्यौरा केंद्र सरकार को देना पड़े। सुप्रीम कोर्ट ने आज केंद्र सरकार को सलाह दी है कि शादियों में होने वाले खर्च का ब्योरा देना अनिवार्य किया जाए।

ये भी पढ़ें:सुप्रीम कोर्ट ने एलजी को फटकारा, पूछा कब हटेगा दिल्ली से कूड़े का ढेर

मैरिज ऑफिसर को देना होगा शादी के खर्चे का हिसाब

जी हैं केंद्र सरकार को सलाह देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सरकार को मौजूदा नियम-कानूनों में जरूरी बदलाव पर विचार करना चाहिए, ताकि वर-वधू दोनों पक्ष के लोग शादी में होने वाले खर्च का हिसाब-किताब संबंधित अधिकारियों को अनिवार्य रूप से दें। कोर्ट ने कहा हैं वर और वधू दोनों पक्षों को शादी से जुड़े खर्चों की जानकारी लिखित रूप से संबंधित मैरिज ऑफिसर को अनिवार्य कर देना चाहिए।

वधू के अकाउंट में भी डाला जा सकता है कुछ हिस्सा

अगर केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट की सलाह मानती है तो आपको अब अपने घरों में होने वाले शादी-विवाह के खर्चे का पूरा विवरण केंद्र सरकार को देना पड़ सकता है। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि अगर ऐसा कानून अमल में लाया जाता है तो इससे जहां दहेज जैसी कुप्रथा पर लगाम लग सकेगी  वहीं दहेज उत्पीड़न का फर्जी मुकदमा दर्ज करने वालों पर भी नकेल कसी जा सकेगी। कोर्ट ने कहा कि शादी में आने वाले खर्च का एक हिस्सा वधू के बैंक अकाउंट में डाला जा सकता है, ताकि यह भविष्य में जरूरत पड़ने पर वह इसका इस्तेमाल कर सके, ऐसा करने से वधू को आर्थिक मदद भी मिलेगी।

ये भी पढ़ें:-सुप्रीम कोर्ट की केन्द्र को फटकार, कहा ताजमहल को सरंक्षण दो या ध्वस्त कर दो 

अदालत ने केंद्र को भेजा नोटिस

अदालत ने इस मामले में केंद्र सरकार को एक नोटिस भेजा। कोर्ट ने कहा है कि सरकार अपने लॉ ऑफिसर के जरिए इस मुद्दे पर अपने विचारों से अदालत को अवगत कराए। अदालत ने एडिशनल सॉलिसिटर जनरल पीएस नरसिंहा से निवेदन किया है कि वो कोर्ट को असिस्ट करें।

Related posts:

जया जेटली का तहलका फंडिंग मामले में बड़ा खुलासा, बोली-सोनिया पत्रिका के लिए बनी थी सुरक्षाकवच
Swachh Bharat Mission का फीडबैक प्राप्त करेगा कॉल सेन्टर :सुरेश खन्ना
सुब्रमण्यम स्वामी का बयान- गद्दार को मिला भारत रत्न, आरएसएस के लोगों की अनदेखी क्यों
UAE : आबु धाबी में पीएम मोदी करेंगे पहले हिन्दु मंदिर का उद्घाटन, देखें तस्वीरें...
चंदन गुप्ता को शहीद का दर्जा देने की याचिका ख़ारिज, कासगंज हिंसा मामला...
इनवेस्टर्स समिट नहीं योगी सरकार का फैशन शो था : मायावती
शिवपाल ने भतीजे अखिलेश को दी जीत की बधाई, भविष्य के लिए दी बड़ी नसीहत
CBSE 12वी का पेपर हुआ शोशल मीडिया पर वायरल
गोंडा में पुलिस की दबंगई सारे कागजात होने के बावजूद गाड़ी को किया सीज
आजादी के 71 साल बाद आजाद हुआ रोहनात गांव
SC/STजनजाति कानून पर अध्यादेश लाने को दी मंजूरी : राम विलास पासवान
फेमिना मिस इंडिया में बेबी बंप के साथ नज़र आई नेहा, प्रेग्नेंसी की चर्चा जोरों पर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *