भारतीय शतरंज खिलाड़ी सौम्या स्वामीनाथन ने हिज़ाब से किया इनकार, छोड़ी चैंपियनशिप

सौम्य स्वामीनाथन
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। ईरान में होने वाली एशियन नेशनल चेस चैंपियनशिप से भारत की स्टार शतरंज खिलाड़ी सौम्या स्वामीनाथन ने अपना नाम वापस ले लिया है। सौम्या ईरान में सिर पर स्कार्फ डालकर खेलने के नियम को लेकर नाराज़ है।   जिसे उन्होंने फेसबुक पर जाहिर किया है। सौम्या ने फेसबुक पर एक पोस्ट में कहा है कि वह इस चैंपियनशिप में इसलिए हिस्सा नहीं लेंगी क्योंकि उन्हें इस्लामिक देश ईरान में हिजाब पहनने को कहा जाएगा। ईरान के हमदान में 26 जुलाई से 4 अगस्त के बीच एशियन नेशनल चेस चैंपियनशिप का आयोजन होना है।

सौम्य स्वामीनाथन

 सौम्या ने 2018चैंपियनशिप में भाग लेने वाली महिला टीम से मांगी माफी 

सौम्या ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा की  मैं आने वाले एशियन नेशनल कप चेस चैंपियनशिप 2018 में भाग लेने वाली महिला टीम से माफी मांगती हूं। 26 जुलाई से 4 अगस्त के बीच ईरान में होने वाले इस टूर्नामेंट में महिलाओं से सिर पर स्कार्फ पहनने के लिए कहा जा रहा है, मैं नहीं चाहती कि कोई हमें स्कार्फ या बुर्का पहनने के लिए बाध्य करे।

ये भी पढ़े: गौरी लंकेश हत्याकांड की बड़ी सफलता, गोली चलाने वाला शख्स हिरासत में 

सौम्या स्वामीनाथन ने कहा खेलों में धार्मिक ड्रेस कोड गलत है

बता दें की ईरान में हिजाब और स्कार्फ पहनने का नियम महिलाओं के लिए अनिवार्य है। ऐसे में सौम्या ने आगे लिखा की वहां के नियम मेरे  फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन, फ्रीडम ऑफ थॉट, मेरी चेतना और मेरे धर्म का उल्लंघन है।

सौम्य स्वामीनाथन

अपने अधिकारों को बचने के लिए मैंने ये फैसला लिया है।   साथ ही सौम्या ने ये भी कहा की नेशनल टीम के लिए ड्रेस कोड लगाना गलत है। खेलों में धार्मिक ड्रेस कोड नहीं होना चाहिए।

कुछ चीज़े जिसमे समझोता नहीं किया जा सकता

सौम्या ने कहा कि एक खिलाड़ी अपनी जिंदगी में खेल को सबसे पहले रखता है जिस वजह से उससे कई तरह के समझोते करने पढ़ते है, पर कुछ चीज़े ऐसी होती है जिसमे समझोता नहीं किया जा सकता।   आपको बता दें की 29 साल की सौम्या भारत की नंबर 5 महिला शतरंज खिलाड़ी हैं

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *