बच्चों की सुरक्षा सीएमएस के लिए सर्वोपरि : डा. जगदीश गांधी

सीएमएससीएमएस

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल  (सीएमएस) में मोबाइल फोन व ‘ट्रुथ एण्ड डेयर’ जैसे खेल पूरी तरह से प्रतिबन्धित है। ऐसे किसी भी खेल में शामिल छात्र को तत्काल निष्कासित कर दिया जायेगा। इसके साथ ही जनमानस से अपील की कि पिछले दो दिनों से कुछ अराजक तत्वों द्वारा किये जा रहे दुष्प्रचार से सावधान रहे और उनके बहकावे में न आए। सीएमएस का प्रत्येक शिक्षक व कर्मचारी बच्चों की सुरक्षा को लेकर सजग है।

कुछ अराजक तत्व सीएमएस स्कूल की छवि कर रहें हैं धूमिल

यह बात सीएमएस स्कूल के संस्थापक डा. जगदीश गांधी ने मंगलवार को एक प्रेस कान्फ्रेन्स में कही। उन्होंने कहा कि बच्चों की सुरक्षा और उनका उज्जवल भविष्य हमारे लिए सर्वोपरि है और हम अपने दायित्वों को दृढ़तापूर्वक निभा रहे हैं। गांधी ने कहा कि एक नाबालिग बच्चे के अशोभनीय आचरण को लेकर कुछ अराजक तत्वों द्वारा जिस प्रकार कक्षा-तीन की मासूम बच्ची व उसके माता-पिता को मानसिक प्रताडना दी जा रही है।  वह बहुत ही दुखद एवं निंदनीय है। उन्होंने आरोप लगाया कि स्कूल को बदनाम करने की नीयत से कुछ गैर-जिम्मेदार लोग व संस्थाएं तथ्यों को तोड़-मरोड़कर एक मासूम बच्ची के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

स्पष्टीकरण के बावजूद कैसे ‘रेप जैसी अफवाहों’ की खबरें जा रही है फैलायी

गांधी ने कहा कि मैं जनमानस से अपील करना चाहता हूँ कि वे सच्चाई को जाने बगैर कोई राय न बनायें और सच्चाई यह है कि पूरा मामला मात्र एक नाबालिग छात्र के अशोभनीय आचरण का है, जिसके लिए उसे दण्डित किया जा चुका है। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि बच्चों के माता-पिता व स्कूल प्रबन्धन के साथ ही बाल आयोग व प्रशासन के वरिष्ठ व जिम्मेदार अधिकारियों के स्पष्टीकरण के बावजूद कैसे ‘रेप जैसी अफवाहों’ की खबरें फैलायी जा रही है।

ये भी पढ़ें :-स्वतंत्रता दिवस: मदरसों को राष्ट्रगान के बाद ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाने के आदेश 

कुछेक इलेक्ट्रानिक मीडिया संस्थानों ने भी इस मामले में अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं किया

उन्होंने दुख व्यक्त किया कि कुछेक इलेक्ट्रानिक मीडिया संस्थानों ने भी इस मामले में अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं किया और गैर-जिम्मेदार तरीके से तथ्यों को तोड़-मरोड़कर जनमानस को गुमराह किया। डा. गांधी ने बताया कि राज्य बाल संरक्षण आयोग की सदस्या डा. प्रीति वर्मा, एडीशनल सिटी मजिस्ट्रेट पूजा वर्मा एडीशनल सिटी मजिस्ट्रेट , प्रफुल्ल कुमार त्रिपाठी, डिस्ट्रिक्ट प्रोबेशन अधिकारी,  एसएस पाण्डेय चीफ मिनिस्टर सोशल मीडिया हब से आशीष कुमार, डिस्ट्रिक्ट चाइल्ड प्रोटेक्शन यूनिट से आसमा जुबैर, क्षेत्राधिकारी अलीगंज व अन्य पुलिस अधिकारियों ने सीसीटीवी फुटेज देखकर प्रकरण की जानकारी ली और पूरी जांच में रेप होने की कोई पुष्टि नहीं हुई है।

डा. जगदीश गांधी ने कहा कि विद्यालय अपने दायित्वों के प्रति पूरी तरह सजग है। बच्चों के अशोभनीय खेल में घटी इस एक घटना को छोड़कर पिछले 59 वर्षों में सीएमएस छात्रों के आचरण पर कभी उंगली नहीं उठी, क्योंकि हमारे स्कूल में चरित्र निर्माण की शिक्षा बच्चों को बचपन से दी जाती है। उन्होंने कहा कि कुछ अराजक तत्वों द्वारा षडयन्त्र के तहत विद्यालय की प्रतिष्ठा को गिराने के उद्देश्य से लगातार दुष्प्रचार किया जा रहा है, परन्तु सबसे दुर्भाग्यपूर्ण तथ्य यह है कि इससे 7-8 वर्ष की बच्ची और माता-पिता को जिस मानसिक प्रताडना से गुजरना पड़ रहा है, उसकी जितनी भी निंदा की जाये, कम होगी।

स्कूल संस्थापिका डा. भारती गांधी ने बच्ची के पिता द्वारा लिखित पत्र को मीडिया में जारी करने के साथ ही उन तमाम दस्तावेजों को प्रस्तुत करते हुए स्पष्ट किया कि विद्यालय में रेप जैसी कोई घटना नहीं घटित हुई है। विद्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन करने वाले कुछ चुनिन्दा लोग दुर्भावना से ग्रसित हैं। उन्होंने अभिभावकों को विश्वास दिलाया कि अभिभावक जिस विश्वास के साथ हम उस पर खरे उतरेंगे।

 

loading...

You may also like

अपने आशिक के साथ रहने पर अड़ी 6बच्चों की माँ

लोटन,सिद्धार्थनगर। लोटन कोतवाली क्षेत्र की एक गांव की