कोचिंग अग्निकांड : बच्चों ने बताई की रूह कंपा देने वाली कहानी, 45 मिनट देर से पहुंची थी फायर ब्रिगेड

कोचिंग अग्निकांडकोचिंग अग्निकांड
Loading...

सूरत (गुजरात)। सूरत में एक बहुमंजिला इमारत में शुक्रवार को आग लगने से कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई है, जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि फायर ब्रिगेड 45 मिनट देरी से मौके पर पहुंची, गवाहों का दावा किया, आग लगने पर मेरी बेटी इमारत के अंदर थी। बता दें कि फायर स्टेशन से फायर ब्रिगेड, जो 2 किमी से अधिक दूर नहीं है फिर भी आने में लगभग 45 मिनट लगे, एक माँ ने कहा कि मेरी बेटी बच गई वह आघात में है, लड़की के पिता ने एएनआई को बताया कम से कम 5-6 माता-पिता अभी भी लापता हैं।

ये भी पढ़ें : विजय रुपाणी ने सूरत अग्निकांड के दिए जांच के आदेश, अब तक 19 लोगों की मौत 

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को सूरत के सरथाना क्षेत्र में स्थित एक कोचिंग सेंटर, एक बहु-मंजिला इमारत में आग लग गई, आग बड़े पैमाने पर लगी, बता दें कि एएनआई से बात करते हुए, एक गवाह प्रतीक कन्सारा, ने कहा है कि सीढ़ियों के माध्यम से कम से कम 22-25 बच्चों को बचाया गया, जबकि 20 अन्य कूद गए, हमें पता चला कि जब घटना हुई थी तब इमारत के अंदर 70 बच्चे थे, हम अनुमान लगा रहे हैं कि 8-10 से अधिक बच्चे अभी भी अंदर हैं।

बता दें कि दूसरे वीटनेस, साक्षी, अजय पटेल,  ने कहा कि फायर स्टेशन का कार्यालय आग पकड़ने वाली इमारत के पास ही है, फिर भी फायर ब्रिगेड 30-35 मिनट देरी से आई, उनके पाइप का दबाव लौ को कम करने के लिए बहुत कम था, साथ ही  उन्होंने कहा कि तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में जब आग लगी और कई छात्र भवन से बाहर निकलते दिखे,कुछ लोग बच नहीं पाए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। जैसे-जैसे बचाव अभियान चलाया गया, महिलाओं और बच्चों के शवों को बाहर निकाला गया, बता दें कि कथित तौर पर शॉर्ट सर्किट से आग लगी थी।

ये भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर में भूस्खलन से राष्ट्रीय राजमार्ग बंद, हल्की बारिश से मिली राहत 

बता दें कि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने जांच का आदेश दिया है और त्रासदी में मारे गए छात्रों के परिवारों को 4-2 लाख की आर्थिक मदद की घोषणा की है, रूपानी ने कहा कि हमारे बचाव प्रयासों के बावजूद इस त्रासदी में बीस लोगों की जान चली गई है, कोचिंग सेंटर में आग लगने के समय लगभग 20 वर्ष के छात्र कोचिंग सेंटर में फंस गए थे, बता दें कि आवास विभाग के प्रधान सचिव, मुकेश पुरी ने तुरंत जांच की और मामले पर एक रिपोर्ट प्रस्तुत की, राज्य सरकार ने मरने वाले बच्चों के परिवारों को 4 लाख रुपये की वित्तीय मदद प्रदान करेगी।

Loading...
loading...

You may also like

संभल : पिकअप डीसीएम की टक्कर में 8 की मौत, 10 गंभीर रूप से घायल

Loading... 🔊 Listen This News संभल। उत्तर प्रदेश