दलितों के हक के लिए कांग्रेस ने खोला मोर्चा, सुप्रीम कोर्ट बदले फ़ैसला

सुप्रीम कोर्ट
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से कांग्रेस नाराज चल रही है। इसके बाद दलितों के हक के लिए अब विपक्ष और सरकार आमने-सामने आ गई है। शुक्रवार को कांग्रेस नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की नेतृत्व में संसद परिसर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया।

दलितों के सम्मान में  राहुल गांधी मैदान में

प्रदर्शनकारी नेताओं ने सरकार से एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करने की मांग की। कांग्रेस नेता इस दौरान नारे लगाए जा रहे थे, कि दलितों के सम्मान में  राहुल गांधी मैदान में। बताया जा रहा है कि एससी-एसटी एक्ट कानून को हल्का बनाए जाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले से न सिर्फ कांग्रेस पार्टी नाराज चल रही है, बल्कि बीजेपी के भी दलित नेता नाराज चल रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-कांग्रेस के लिए बुरी खबर : सोनिया गांधी की बिगड़ी तबियत, अस्पताल में भर्ती

कानून मंत्री कोर्ट के फैसले की कर रहे हैं समीक्षा

इससे पहले बीजेपी के एसटी मोर्चा के अध्यक्ष अरविंद नेताम ने कहा था कि हमने सरकार से मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ वह रिव्यू पिटीशन दायर करे। वहीं बीजेपी के सहयोगी दल भी सरकार पर इसे लेकर दबाव बढ़ा रहे हैं। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले गुट) के नेता रामदास अठावले ने कहा कि अमित शाह ने बताया कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद कोर्ट के फैसले की समीक्षा कर रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी कांग्रेस

बीते दिनों एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाराज कांग्रेस ने कहा था कि एससी-एसटी एक्ट को मोदी सरकार कमजोर कर रही है। साथ ही कांग्रेस ने सवाल उठाया कि आखिर इस एक्ट पर पीएम मोदी चुप क्यों हैं। इतना ही नहीं, कांग्रेस ने इस एक्ट को कमजोर करने के लिए बीजेपी और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया। बीजेपी पर हमला बोलते हुए कांग्रेस ने कहा गरीब और दलित विरोधी चेहरा सामने आ गया है। कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार के चलते देश में सबसे ज्यादा दलितों पर अत्याचार हो रहा है। कांग्रेस इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *