कांग्रेस प्रवक्ता परीक्षा का पेपर हुआ लीक, प्रतियोगियों से पूछे गए थे ये 14 सवाल

सोशल मीडिया
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। यूपी मे भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक होने की बातें सामने आने पर प्रदेश कांग्रेस ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। वहीं अब कांग्रेस प्रवक्ता परीक्षा का ही पेपर लीक होने की बात सामने आयी है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता बनने के लिए पीएम मोदी, सीएम योगी और उनके कामों के बारे में जानकारी जरूरी है। प्रवक्ता और टीवी में बहस के लिए पैनलिस्ट के दावेदारों की बृहस्पतिवार को बाकायदा लिखित परीक्षा हुई और साक्षात्कार किया गया। बंटने से पहले ही पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

पढ़ें:- मायावती ने मोदी पर साधा निशाना, संत कबीर अकादमी का शिलान्यास जनता के साथ छलावा 

कांग्रेस प्रवक्ता परीक्षा की रेस में कई बड़े चेहरे भी थे शामिल

बता दें कि प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने कुछ समय पहले ही प्रदेश कांग्रेस के कई विभाग भंग कर दिए थे। जिसके बाद प्रदेश के कांग्रेस प्रवक्ता की लिखित परीक्षा का आयोजन किया गया था। लिखित परीक्षा के बाद इंटरव्यू में दावेदारों की क्षमता परखी गई। इंटरव्यू में प्रियंका चतुर्वेदी, रोहन गुप्ता के साथ प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर भी शामिल थे। दावेदारों से सामान्य ज्ञान, प्रदेश की राजनीति व सरकार से जुड़े सवाल पूछे गए।

लेकिन प्रदेश प्रवक्ता बनने के सपने देख रहे नेताओं की उम्मीदों पर पहले ही पानी फिर गया परीक्षा शुरू होने के पहले ही पेपर वॉट्सऐप भी कर दिया गया। साथ ही दावा किया गया कि सॉल्वर भी उपलब्ध है, लेकिन ज्यादातर ने यह संदेश देखा ही नहीं।

पढ़ें:- पूर्व सपा सरकार की पोल खोलने के चक्कर में उल्टा फंसे भाजपाई, चलेगा मुक़दमा 

कांग्रेस प्रवक्ता की थी सीक्रेट थी परीक्षा

दो दिन पहले कांग्रेस में मौखिक तौर पर बताया गया कि राष्ट्रीय प्रवक्ता के साथ मीटिंग है। अगर आप हिस्सा लेना चाहते हों तो रजिस्ट्रेशन करवा लें। रजिस्ट्रेशन करवाने वालों को बुधवार शाम संदेश भेजा गया कि गुरुवार दोपहर ढाई बजे प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पहुंचें। लोग मीटिंग के लिए पहुंचे तो उनसे कहा गया कि अगर वे पार्टी प्रवक्ता बनना चाहते हैं तो उन्हें एक पेपर हल करना होगा।

बातचीत के दौरान प्रियंका चतुर्वेदी ने साफ किया कि प्रवक्ताओं की औसत उम्र 40 साल होगी। इसे सुनकर 60 साल के हो रहे कई पूर्व प्रवक्ताओं के चेहरों पर मायूसी छा गई। हालांकि नए दावेदार बेहद खुश नजर आए।

पढ़ें:- भाजपा के इस नेता पर टिप्पणी करने से राहुल के खिलाफ मानहानि की अर्जी 

कॉपी ही छिन गई

जब परीक्षा में बैग ले रहे लोगों को पेपर मिला तो सबके हाथ-पांव फूल गए। स्थिति ये पैदा हो गयी कि यूपी में लोकसभा की आरक्षित सीटें जानने के लिए दो नेता ‘एग्जामनेशन हॉल’ छोड़कर कम्प्यूटर रूम तक पहुंच गए और इंटरनेट के जरिए उत्तर पता किया। एक नेताजी बहुत तेजी से उत्तर लिखे जा रहे थे, थोड़ी देर में उनकी कॉपी छिन गई और बाकी लोग नकल करने लगे। एक वरिष्ठ प्रवक्ता की तो स्थिति ही अजब थी। साथियों से पूछकर उत्तर लिखते थे, फिर कोई दूसरा जवाब बताता तो काट कर वह जवाब लिख देते। उनकी कॉपी में सबसे ज्यादा कटिंग थी।

पढ़ें:- बीजेपी को लगा बड़ा झटका, गायत्री परिवार ने समर्थन से किया इंकार 

ये सवाल पूछे गए थे

1. उत्तर प्रदेश में कितने मंडल, जिले और ब्लॉक हैं?

2. उत्तर प्रदेश में लोकसभा की कितनी आरक्षित सीटें हैं?

3. 2004 एवं 2009 में कांग्रेस कितनी सीटों पर जीती थी?

4. लोकसभा 2014, 2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का वोट प्रतिशत कितना था?

5. उत्तर प्रदेश में कितनी लोकसभा और विधानसभा सीटें हैं?

6.उत्तर प्रदेश में एक लोकसभा सीट में कितनी विधानसभा सीटें आती हैं?

7. किन लोकसभा सीटों पर मानक से कम या ज्यादा विधान सभा सीटें हैं?

8. प्रवक्ता का कार्य क्या होता है?

9. आप प्रवक्ता क्यों बनना चाहते हैं?

10. मोदी सरकार की असफलता के प्रमुख बिंदु क्या हैं?

11. योगी सरकार की असफलता के प्रमुख बिंदु क्या हैं?

12. मनमोहन सिंह सरकार की उपलब्धियां क्या थीं?

13.आज समाचार पत्र में तीन प्रमुख खबरें क्या हैं? जिन पर कांग्रेस प्रवक्ता बयान जारी कर सकें।

14. प्रमुख हिंदी/अंग्रेजी एवं उर्दू अखबार तथा चैनलों के नाम।

Related posts:

बालू खनन पर नही लगी लगाम
चुनाव में जनता सीखना चाहती है सबक, इसलिए भाग खड़ी हुई कांग्रेस: पीएम मोदी
बीजेपी में इस्तीफों की लगी झड़ी, कांग्रेस छोड़कर शामिल हुए विधायकों को भी नहीं मिला टिकट
साथी फ़ौजी की बेटी को घर बुलाकर, कर्नल ने किया दुष्कर्म...
यूपी निकाय चुनाव : मतगणना एक को, टैबुलेशन कार्य में लगे कार्मिको को मिला प्रशिक्षण
शीतकालीन सत्र : मनमोहन सिंह से माफ़ी मांगे मोदी
जाधव के मुलाकात वीडियो से छेड़छाड़ कर सकता है पाक
बेख़ौफ़ बदमाशों ने दिन-दहाड़े युवक को मारी गोली, मौत
फारुख अब्दुल्ला बोले- पूर्वोत्तर में जीत बीजेपी के जनाज़े का संकेत, इंदिरा गाँधी के समय....
एक जनवरी को सिर्फ कैलेन्डर, नव संवत्सर से बदलती है प्रकृति: महापौर
सीबीआई ने PCS-2015 में चयनित टॉप-20 अफसरों से करेगी पूछतांछ
सिद्धार्थनगर:लोटन में निकली जगन्नाथ यात्रा

One thought on “कांग्रेस प्रवक्ता परीक्षा का पेपर हुआ लीक, प्रतियोगियों से पूछे गए थे ये 14 सवाल”

  1. अच्छी शुरुआत है परन्तु इसके लिए राजनीतिक विश्लेषक की आवश्यकता होगी काफी जांच ने वाले को ही उत्तर नहीं पता होगा ।लकीर का फ़कीर कभी सेवक नहीं वन सकता । गुलाम वन सकता है और पुरे देश को गुलाम बना सकता है । सेवा भावना से होती है भा्वना प्रधान नर/नारी ही राष्ट्र /समाज सेवा कर सकते है समाज सेवक्
    वन सकते हैं ।प्रवक्ता राजनीतिक अध्यात्म का व्यक्ति ही होना चाहिए । जो काल कोठरी में भी बैठ कर विपक्ष के प्रश्नो का उत्तर दे सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *