कर्नाटक में भाजपा की बनी सरकार तो कांग्रेस उठाएगी ये तीन बड़े कदम

भाजपाभाजपा

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित किये जाने के बाद अभी तक ये तय नहीं हो पाया है कि किस पार्टी की सरकार बन रही है। वहीं भाजपा का दावा है कि वह सरकार बना रही है और राज्यपाल ने उन्हें पहले सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया है। इस मामले में पार्टी के सीएम उम्मीदवार येदियुरप्पा ने राज्यपाल ने से मुलाकात की। वहीं उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा है कि राज्यपाल ने उन्हें इंतज़ार करने के लिए कहा है। सूत्रों की माने तो बुधवार शाम तक राज्यपाल भाजपा को सरकार बनाने का प्रस्ताव दे सकते हैं। जिसको लेकर पार्टी के नेता निश्चिन्त नजर आ रहे हैं।

पढ़ें:- कर्नाटक में बीजेपी बनाने वाली थी सरकार, मायावती के फोन कॉल ने मचा दिया हडकंप 

भाजपा ने बनायी सरकार तो कांग्रेस उठाएगी ये तीन कदम

1. इस स्थिति में कांग्रेस का पहला कदम गवर्नर के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करना होगा।

2. दूसरा कदम गवर्नर के सामने कांग्रेस-जेडीएस विधायकों की परेड निकालेंगे।

3. तीसरा कदम जरुरत पड़े तो राष्ट्रपति की शिकायत, राष्ट्रपति के सामने ही विधायकों की परेड करेंगे।

पढ़ें:- कर्नाटक की सरकार: कांग्रेस का पलटवार, कहा- हमारे संपर्क में भी हैं 4 BJP MLA 

भाजपा पर खरीद फरोख्त का आरोप

जेडीएस के नेता एच डी कुमारास्वामी ने भाजपा पर कर्नाटक में विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उनकी पार्टी के विधायकों को 100 करोड़ रुपए और कैबिनेट में पद देने की पेशकश की गई है। उन्होंने कांग्रेस के समर्थन का धन्यवाद करते हुए कहा है कि बीजेपी ने स्वयं जो अन्य राज्यों में किया है। उसके बाद उसे कोई अधिकार नहीं है कि हमें नैतिकता का पाठ पढ़ाये। भाजपा के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त विधायक नहीं हैं और राज्यपाल को हमें आमंत्रित करना ही होगा।

उन्होंने आरोप लगाते हुए आगे कहा कि आयकर विभाग और अन्य एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष को निशाना बनाने के लिए किया जा रहा है। केन्द्र सरकार अपने अधिकारों का गलत इस्तेमाल कर रही है और श्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री होने के बावजूद भाजपा को बहुमत दिलाने में नाकाम रहे।

पढ़ें:- कर्नाटक विधानसभा चुनाव: कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी, बैठक में नहीं पहुंचे 3 विधायक 

उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों ने हमसे संपर्क किया था।हम भाजपा को बहुत अच्छी तरह से जानते हैं और इस बार हम सिर्फ कांग्रेस के साथ जायेंगे। उन्होंने कहा कि बिना पार्टी के बहुमत के मैं मुख्यमंत्री बनूंगा। इसका मुझे दुख है किंतु कर्नाटक की जनता के लिए मुझे यह करना पड़ रहा है। मैं अपने पिता की इच्छाओं के विरुद्ध नहीं जाना चाहता।

loading...

You may also like

पीएम को चोर करने पर भड़के सीएम योगी, कहा- राहुल और कांग्रेस देश से मांगे माफ़ी

गोरखपुर। राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति