दलित विधायक ने कहा- मोदी की सभा में कुर्सियां उछालो, नौकरी मांगों, FIR दर्ज

दलित विधायकदलित विधायक

बेंगलुरु। गुजरात के दलित विधायक जिग्नेश मेवाणी एक बार फिर अपने बयान को लेकर सुर्ख़ियों में हैं। उनके पीएम मोदी और बीजेपी पर की गई टिप्पणी को लेकर विवाद हो गया है। साथ ही उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो गयी है। बताया जा रहा है कि मेवाणी ने पीएम मोदी की रैली को बाधित करने के लिए बयान दिया है। उन्होंने पीएम की रैली को लेकर लोगों को इसे बाधित करने की सलाह दी है। वहीं इस मामले में दलित विधायक का कहना है कि रोजगार का सवाल पूछने पर एफआईआर हो रही है।

पढ़ें:- चौथे दलित सांसद ने मोदी के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा- चार सालों में कुछ नहीं किया 

दलित विधायक जिग्नेश मेवाणी ने क्या कहा

गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी कर्नाटक में पीएम मोदी और बीजेपी के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को जिग्नेश ने कर्नाटक के चित्रदुर्ग में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी सरकार को रोजगार के वादे पर घेरा। इस दौरान जब उनसे कर्नाटक चुनाव में युवाओं के रोल के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने अपने जवाब में पीएम मोदी के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर डाली।जिग्नेश ने कहा कि ‘युवाओं का रोल ये हो सकता है कि 15 तारीख को पीएम मोदी की बंगलुरु में जो रैली होने वाली है। उनकी सभा में घुस जाएं और कुर्सियां हवा में उछालें। उनके कार्यक्रम को बाधित कर दें और उनसे पूछें कि 2 करोड़ रोजगार का क्या हुआ?’

मेवाणी बस यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे पीएम मोदी पर हमला जारी रखते हुए कहा कि नौजवानों से कहा किया कि अगर मोदी रोजगार पर जवाब नहीं देते तो उन्हें कहना कि हिमालय जाकर आराम करें।

दलित विधायक मेवाणी के खिलाफ FIR

जिग्नेश मेवाणी के इस बयान को बीजेपी ने गंभीरता से लेते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। केस दर्ज होने के बाद जिग्नेश मेवाणी ने ट्वीट किया और रोजगार का सवाल करने पर एफआईआर होने का आरोप लगाया। उन्होंने लिखा, ‘हमारी और प्रकाश राज की जनसभा को बंद करवाने के लिए काले झंडे और डंडे लेकर भाजपा के जो गुंडे शिवमोगा में आ धमके, उन पर कोई एफआईआर नहीं, जिन्होंने भारत बंद के कॉल में दलितों की छाती पर गोलियां दागी उन पर कोई करवाई नहीं, लेकिन हमने 2 करोड़ युवा के लिए रोजगार मांगा तो FIR?

loading...

You may also like

सुप्रीम कोर्ट का फैसला, सरकारी नौकरी प्रमोशन में SC/ST कर्मियों को मिलेगा आरक्षण

नई दिल्ली। अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति सरकारी