दाती महराज रेप केस: पीड़िता ने कोर्ट में दर्ज कराया बयान, कहा हादसे को याद कर आज भी कांप जाती है रूह

दाती महराजदाती महराज

नई दिल्ली। मैं आज कोर्ट में अपना बयान दे रहीं हूं कि किस तरह से दाती महराज और उनके गुर्गों ने मेरे साथ दुष्कर्म किया था, किस तरह से मुझे जानवरों की तरह नोचा जाता था। पीड़िता ने कोर्ट में आपबीती सुनते हुए कहा कि उस मंजर को याद करके आज भी उसकी रूह कांप जाती हैं। उसने आशंका जताई की हो सकता हैं कि आज के बाद मैं जिन्दा न रहूं लेकिन मेरे इस कदम से कई लड़कियों की जिन्दगी बच सकती है।

दाती महराज के गुर्गों ने भी उसके साथ किया था दुष्कर्म

दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद एक ओर दाती मदन भूमिगत हैं। वहीं बाबा पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली 25 वर्षीय पीड़िता ने मंगलवार को कोर्ट में 164 के तहत अपना बयान दर्ज कराया। उसने अपनी आपबीती में बताया कि किस तरह दाती और उसके सहयोगियों ने यौन शोषण किया। उसने कोर्ट को बताया कि आज मैं उसके (दाती) खिलाफ शिकायत कर रही हूं। इसके बाद पता नहीं मैं जिंदा रहूंगी या नहीं, लेकिन मेरे जैसी दूसरी लड़कियों की जिंदगी जरूर बर्बाद होने से बच जाएगी।

लम्बे समय से जी रही थी घुट-घुट कर

मैं लंबे समय तक डर के कारण घुट-घुटकर जीती रही, क्योंकि दाती महराज की ओर से लगातार उसे धमकियां मिल रहीं थी लेकिन जब हिम्मत ने जवाब दे दिया तो पुलिस के पास जाने की ठान ली। पीड़िता ने बताया कि 9 फरवरी 2016 को दाती की एक सेवादार श्रद्धा मुझे असोला स्थित शनि धाम आश्रम में चरण सेवा के लिए दाती के पास ले गई। मुझे अंधेरे गुफानुमा कमरे में सफेद रंग के कपड़े पहनाकर भेजा गया। वहां दाती ने कहा, मैं तुम्हारा प्रभू हूं, क्यों इधर-उधर भटकना। मैं सब वासना खत्म कर दूंगा। इसके बाद दाती और उसके सहयोगियों ने मेरे साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। मैं चीखती रही लेकिन दाती महराज को मेरे ऊपर दया नहीं आयी वह यही बोलते रहे आज तुम्हें मोक्ष मिल जायेगा। इसके बाद मार्च 2016 में राजस्थान स्थित गुरुकुल पाली जिले में भी यही कहानी दोहराई गई। मुझे 3 दिन तक जानवरों की तरह नोंचा गया। दाती के सहयोगी अनिल ने भी मेरे साथ दुष्कर्म किया।

पीड़िता बोली, बहुत खतरनाक आदमी हैं दाती महराज

पीड़िता ने बताया, श्रद्धा उससे कहती थी कि ऐसा करने से तुम्हें मोक्ष प्राप्त होगा। यह भी सेवा है। तुम बाबा की हो और बाबा तुम्हारे। तुम कोई नया काम नहीं कर रही हो, सब करते आए हैं। कल हमारी बारी थी, आज तुम्हारी बारी है। कल न जाने किसकी बारी होगी। बाबा समंदर हैं और हम सब मछलियां हैं। इसे कर्ज समझकर चुका लो। पीड़िता का कहना है कि दाती बहुत खतरनाक आदमी है। उसे फांसी की सजा होनी चाहिए।

अगर सुरक्षा न दी गयी तो जिन्दा नहीं बचेगा परिवार

मुझे और परिवार को सुरक्षा दी जाए, अगर सुरक्षा नहीं मिली तो मैं और मेरा पूरा परिवार जिंदा नहीं बचेगा, यह एकदम तय है। पुलिस ने आरोपी दाती के साथ उसके सहयोगी श्रद्धा, अशोक, अर्जुन, नीमा जोशी को भी नामजद किया है।इस हाईप्रोफाइल केस की तफ्तीश साउथ जिला पुलिस से क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। इस मामले में साउथ ईस्टर्न रेंज के संयुक्त पुलिस आयुक्त देवेश श्रीवास्तव ने बताया आरोपी की तलाश में कहीं पर भी दबिश नहीं डाली जा रही है। उन्हें नोटिस देकर पूछताछ

loading...
Loading...

You may also like

आठ माह के मासूम की सांस नली में दूध फंसने से बच्चे की मौत

लखनऊ। बच्चों को लिटाकर दूध पिलाने से शहर